इसरो को मिलेगी एचएमटी की जमीन

इसरो को मिलेगी एचएमटी की जमीन

Rajendra Shekhar Vyas | Publish: Jul, 13 2018 11:28:26 PM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

घड़ी से अंतरिक्ष तकनीक केंद्र तक का सफर

बेंगलूरु. कभी मशहूर एचएमटी घडिय़ां जहां टिक-टिक करती थीं वहां अब भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के उपग्रहों, रॉकेटों और अंतग्र्रहीय अभियानों की तैयारी होगी। लगभग 50 वर्ष तक देशकी धड़कन रही एचएमटी घडिय़ों का उत्पादन बंद होने के बाद उसकी जमीन आगामी 14 जुलाई को इसरो को हस्तांतरित कर दी जाएगी।
बेंगलूरु और तुमकूरु में लगभग 208 एकड़ जमीन इसरो को सौंपा जाएगा जिस पर इसरो हाल के वर्षों का सबसे बड़ा विस्तार करेगा। तुमकूरु के सांसद एसपी मुद्देहनुमे गौड़ा ने गुरुवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि आगामी 14 जुलाई को सुबह 10.30 बजे एक समारोह के दौरान इसरो को यह जमीन सौंपी जाएगी। इसरो को यह जमीन सौंपे जाने के बाद तुमकूरु विश्व के नक्शे पर आ जाएगा।
समारोह में उपमुख्यमंत्री डॉ.जी परमेश्वर, एसआर श्रीनिवास, वेंकटरमनप्पा सहित कई मंत्री और इसरो के अधिकारी भाग लेंगे। उन्होंने उम्मीद जताई कि इसरो के नए केंद्र की स्थापना से नए रोजगार के अवसर भी सृजित होंगे। दरअसल, अपनी क्षमता बढ़ाने के लिए इसरो को जगह की आवश्यकता है जबकि शहर के तमाम केंद्रों पर विस्तार की तनिक भी जगह नहीं रह गई है। ऐसे में एचएमटी की जमीन मिलने से इसरो ने राहत की सांस ली है।

परिवहन कर का विरोध करेगी पालिका: महापौर
बेंगलूरु. महापौर संपतराज ने कहा कि पालिका परिवहन कर का विरोध करेगी। उन्होनें गुरुवार को पालिका की विशेष बैठक में कहा कि परिवहन मंत्री डी.सी.तम्मण्णा ने खस्ता सड़कों के कारण बीएमटीसी बसें खराब होने की वजह से परिवहन कर लगाने का प्रस्ताव किया है, जिसका सभी पार्षद और वे स्वयं विरोध करते हैं। उन्होंने कहा कि पालिका के सामने अभी तक ऐसा कोई प्रस्ताव नही आया है। प्रस्ताव आने पर चर्चा होगी। परिवहन कर लगाना आसान काम नहीं है। पहले सरकारी स्तर पर फिर पालिका की बैठक में चर्चा होना जरूरी है।
बीएमटीसी दे पालिका को कर
उन्होंने कहा कि बीएमटीसी की बसों में विज्ञापन लगाकर सरकार पहले ही कमाई कर रही है। इसलिए उल्टा बीएमटीसी को ही पालिका को कर देना चाहिए।
बीएमटीसी की बसों के कारण ही सड़कें खराब हो रही हैं। सड़कों की मरम्मत का सारा खर्च बीएमटीसी को ही उठाना होगा। इस मामले में परिवहन विभाग को एक प्रस्ताव भेजा जाएगा।इससे पहले पालिका के नेता प्रतिपक्ष पद्मानाभ रेड्डी ने कहा कि परिवहन कर लगाने के प्रस्वाव का विरोध किया जाएगा। महापौर ने जानबूझ कर कर लगाने के प्रस्ताव का स्वागत किया है। अगर पालिका ने परिवहन कर लगाया गया तो भाजपा इसका विरोध करेगी। कोई भी वाहन खरीदा जाता है तो खरीदार सड़क कर चुकाता है।

 

Ad Block is Banned