जद- एस को 'अनलॉक पर ऐतराज

- कहा, आनन-फानन लिया गया फैसला घातक

By: Sanjay Kulkarni

Published: 21 Jun 2021, 04:52 PM IST

बेंगलूरु. जनता दल एस के प्रदेश अध्यक्ष एचके कुमारस्वामी ने आरेप लगाया है कि राज्य सरकार ने कोरोना महामारी की संभावित तीसरी लहर की अनदेखी करते हुए आनन-फानन अनलॉक का फैसला किया है। राज्य सरकार को इस बात की चिंता नहीं है कि इस फैसले के क्या परिणाम होंगे।
उन्होंने कहा कि विशेषज्ञों ने कोरोना महामारी की तीसरी लहर आने की चेतावनी दे रखी है लेकिन राज्य सरकार ने इसकी परवाह नहीं की। सरकार ने अनलॉक का फैसला लेकर राज्य की जनता को संकट में फंसा दिया है। इसके जो घातक परिणाम होंगे, उसके लिए राज्य सरकार ही जिम्मेदार होगी।
उन्होंने कहा कि राज्य के कुछ जिलों में अनलॉक घोषित किया गया है तो कुछ जिलों में लॉकडाउन यथावत है। राज्य सरकार के पास इस सवाल का कोई जवाब नही है कि लोगों को एक जिले से दूसरे जिले में जाने से कैसे रोका जाएगा। अगर कोई संक्रमित अनलॉक घोषित जिलों में पहुंच गया तो इसके लिए कौन जिम्मेदार होगा?
उन्होंने कहा कि राज्य में अभी एक सप्ताह तक लॉकडाउन जारी रखना ही बेहतरीन विकल्प था लेकिन राज्य सरकार ने कुछ जिलों में अनलॉक का अतार्किक फैसला लेकर लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ की है।
उन्होंने कहा कि कई जिलों में कोरोना का परीक्षण तक नहीं किया जा रहा है। इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि कितने लोग संक्रमित हुए। ऐसे लोगों के कारण संक्रमण और तेजी से फैलने की आशंका है। टीकाकरण की गति भी पर्याप्त नहीं है।
उन्होंने कहा कि भाजपा में सत्ता संघर्ष के कारण प्रशासन बाधित हो रहा है। भाजपा आलाकमान इस मामले को गंभीरता से लेते हुए राज्य में एक सक्रिय सरकार का गठन करे। पार्टी की अंतर्कलह से राज्य के हितों को धक्का नहीं पहुंचना चाहिए। अगर यह सरकार कोई फैसले नहीं कर सकती है तो ऐसी सरकार को सत्ता में बने रहने का नैतिक अधिकार नहीं है।

Sanjay Kulkarni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned