जन्म से ही बच्चों को संस्कारित करें: साध्वी डॉ. मंगल प्रज्ञा

शेषाद्रिपुरम में प्रवचन

By: Santosh kumar Pandey

Updated: 11 Jan 2021, 02:17 PM IST

बेंगलूरु. शेषाद्रिपुरम में प्रवास स्थल पर धर्म सभा में साध्वी डॉक्टर मंगल प्रज्ञा ने कहा कि सामाजिक,पारिवारिक, व्यापारिक एवं वैयक्तिक जीवन में धर्म की नितांत आवश्यकता है।

हर अभिभावक अपनी भावी पीढ़ी को धार्मिक संस्कारों से संपोषित करें। पारिवारिक व्यवहार से ही बच्चे संस्कारित होते हैं। जन्म के साथ ही धर्म के संस्कारों का बीजारोपण किया जाना चाहिए । धर्म रक्षा कवच है, अभय प्रदाता है। अपेक्षा है हर व्यक्ति सजग रहे, सावधान रहे। जब तक इंद्रियां स्वस्थ हैं धर्म की आराधना करते रहे ।

कमल कुमार गादिया के साथ ही महिला मंडल मंत्री लता गादिया ने स्वागत किया। साध्वी डॉ राजुल प्रभा ने कहा कि जिन शासन की प्रभावना करने वाले साधु साध्वियों की कड़ी में एक विश्रुत नाम है- साध्वी डॉ मंगल प्रज्ञा का।

राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय क्षेत्रों में जैन दर्शन का व्यापक प्रचार-प्रसार किया। कुलपति के प्रतिष्ठित पद को प्राप्त किया एवं विभिन्न आयामों से जुडक़र जिन शासन की प्रभावना की है।
उल्लेखनीय है कि साध्वी डॉ मंगल प्रज्ञा सहवर्ती साध्वियों के साथ बेंगलोर के उपनगरों का दौरा कर रही हैं।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned