scriptजद-एस एमएलसी सूरज रेवण्णा यौन शोषण के आरोप में गिरफ्तार, सीआईडी जांच | Patrika News
बैंगलोर

जद-एस एमएलसी सूरज रेवण्णा यौन शोषण के आरोप में गिरफ्तार, सीआईडी जांच

शिकायत के बाद, पुलिस एमएलसी को पूछताछ के लिए हासन के सीईएन पुलिस स्टेशन ले आई। उसके बाद उससे रात को कई घंटों तक पूछताछ चली। जिले के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार रेवण्णा को गिरफ्तार कर लिया गया है और बाकी की प्रक्रिया रविवार को पूरीे की गई।

बैंगलोरJun 23, 2024 / 11:22 pm

Sanjay Kumar Kareer

suraj-revanna
बेंगलूरु. राज्य सरकार के आदेश पर आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) के अधिकारियों ने रविवार को पूर्व मंत्री एचडी रेवण्णा के बेटे और जनता दल-एस एमएलसी सूरज रेवण्णा के खिलाफ एक पुरुष द्वारा लगाए गए कथित अप्राकृतिक यौन उत्पीडऩ के आरोप की जांच शुरू की। पुलिस द्वारा गिरफ्तार सूरज हसन जिले में स्थानीय निकायों से विधान परिषद के लिए चुने गए हैं। महिलाओं के यौन शोषण के कई मामलों में आरोपी उनके छोटे भाई प्रज्वल रेवण्णा को पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है, जबकि उनके पिता एचडी रेवण्णा बलात्कार के आरोप में जमानत पर हैं।
सूरज रेवण्‍णा को रविवार को हासन में एक मजिस्ट्रेट अदालत के सामने पेश किया गया। कोर्ट ने उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। मामले की जांच दिन में ही आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) को सौंप दी गई थी। इसके बाद सूरज को हासन से बेंगलूरु ट्रांसफर कर दिया गया। 42वें अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट अदालत (एसीएमएम) के जज के सामने उनके घर पर पेश किया गया।
पुलिस महानिदेशक को लिखित शिकायत में, एक वाणिज्य स्नातक और हासन के अरकलगुड तालुक के निवासी युवक ने आरोप लगाया कि एमएलसी सूरज रेवण्णा ने 16 जून को एक फार्महाउस में उसका यौन उत्पीडऩ किया। युवक ने 21 जून को इसकी लिखित शिकायत दी।
सूरज के खिलाफ होलेनरसीपुर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया और राज्य सरकार के आदेश पर, सीआईडी अधिकारी जांच करेंगे। हसन के पुलिस अधीक्षक को मामले से संबंधित फाइलें सीआईडी अधिकारियों को सौंपने के लिए कहा गया है।
शिकायत में, पीडि़त ने आरोप लगाया कि वह सूरज से नौकरी मांगने एक फार्महाउस में गया था, जहां एमएलसी ने कथित तौर पर उसका यौन शोषण किया। सूरज पर आरोप है कि उसने मामले को उजागर करने पर युवक को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी। शिकायत में पीडि़त ने आरोप लगाया कि वह डर और शर्म के कारण चुप रहा।
उसने आरोप लगाया कि एमएलसी के सहयोगी शिवू ने उन्हें मामले को सार्वजनिक न करने के लिए नकदी की पेशकश की, जिसे उन्होंने अस्वीकार कर दिया। उन्होंने कहा कि उन्होंने अपनी जान लेने के लिए कठोर कदम उठाने पर विचार किया और आरोप लगाया कि सूरज के सहयोगी उन्हें मारने के इरादे से खोज रहे हैं। पीडि़त ने शिकायत की एक प्रति मुख्यमंत्री सिद्धारमैया और गृह मंत्री डॉ जी परमेश्वर को भी भेजी।

एमएलसी ने लगाया ब्लैकमेल का आरोप

इस बीच, एमएलसी सूरज के करीबी सहयोगी शिवकुमार ने 21 जून को होलेनरसीपुर टाउन पुलिस को दी गई शिकायत में चेतन और उसके बहनोई (पहचान ज्ञात नहीं) पर एमएलसी को पैसे के लिए ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया। शिवकुमार ने दावा किया कि उनके पास वॉयस रिकॉर्ड हैं, जिसमें पीडि़त ने एमएलसी से पैसे की मांग की और पुलिस से कहा कि वह सभी सबूत उन्हें सौंप देगा।

गृहमंत्री ने कहा: सबूत मिले इसीलिए पुलिस ने किया गिरफ्तार

इससे पहले हासन पुलिस ने अप्राकृतिक यौन उत्पीड़न के मामले में पूछताछ करने के बाद जद-एस एमएलसी सूरज रेवण्णा को शनिवार देर रात गिरफ्तार कर लिया। अरकलगुड तालुक के खुद को जद-एस पार्टी का कार्यकर्ता बताने वाले एक 27 वर्षीय युवक ने होलेनरसीपुर ग्रामीण पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई थी कि विधान पार्षद रेवण्णा ने 16 जून को होलेनरसीपुर तालुक के गन्निकाडा स्थित अपने फार्महाउस में उसका यौन उत्पीड़न किया।
शिकायत के बाद, पुलिस एमएलसी को पूछताछ के लिए हासन के सीईएन पुलिस स्टेशन ले आई। उसके बाद उससे रात को कई घंटों तक पूछताछ चली। जिले के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार रेवण्णा को गिरफ्तार कर लिया गया है और बाकी की प्रक्रिया रविवार को पूरीे की गई।
पूर्व मंत्री एचडी रेवण्णा के बेटे सूरज 2022 में हासन जिले के स्थानीय निकायों से विधान परिषद के लिए चुने गए थे। उन पर एक व्यक्ति का यौन शोषण करने और उसे हत्या की धमकी देने का आरोप है। होलेनरसीपुर ग्रामीण पुलिस ने सूरज और उनके सहयोगी शिवकुमार के खिलाफ धारा 377 (अप्राकृतिक अपराध), 342 (गलत तरीके से बंधक बनाना) और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत मामला दर्ज किया है।

इसमें कोई साजिश नहीं : परमेश्वर

गृह मंत्री जी परमेश्वर ने रविवार को कहा कि पुलिस ने तभी कार्रवाई की] जब उन्हें कुछ सबूत मिले और उन्हें इस मामले में कोई साजिश या राजनीतिक पहलू नज़र नहीं आता। परमेश्वर ने कहा, इसमें कोई साजिश शामिल नहीं है। एक व्यक्ति द्वारा शिकायत दी गई थी और उसी आधार पर उन्होंने सूरज रेवण्णा को तलब किया है। उन्होंने पूछताछ की और पाया कि इसमें कुछ सच्चाई हो सकती है। जब पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है, तो वे सबूतों की जांच करते हैं और संभवतः उन्हें कुछ सबूत मिले हैं और इसीलिए उन्होंने उसे हिरासत में लिया है। मुझे कोई साजिश नहीं दिखती। मुझे इसमें कोई राजनीतिक पहलू नजर नहीं आता।

Hindi News/ Bangalore / जद-एस एमएलसी सूरज रेवण्णा यौन शोषण के आरोप में गिरफ्तार, सीआईडी जांच

ट्रेंडिंग वीडियो