भाजपा और जद-एस में बढ़ रही सियासी नजदीकियां!

राजनीति : येडियूरप्पा-कुमारस्वामी की मुलाकात को लेकर चर्चाएं

 

By: Jeevendra Jha

Published: 15 Nov 2020, 10:50 PM IST

बेंगलूरु. विधानसभा उपचुनाव और विधान परिषद चुनाव के बाद बदले राजनीतिक हालात में मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा और पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के बीच हुई मुलाकात को लेकर राजनीतिक हलकों में चर्चाओं का दौर जारी है। परिषद की दो स्नातक और दो शिक्षक क्षेत्रों के चुनाव में चारों सीटों पर जीतने के बाद भाजपा विधानमंडल के उच्च सदन में सबसे बड़ी पार्टी हो गई है लेकिन उसके पास अभी भी बहुमत नहीं है। राजनीतिक हलकों में चर्चा है कि भाजपा परिषद में बहुमत का जुगाड़ करने के लिए जद-एस से दोस्ती कर सकती है। इन चर्चाओं के बीच दोनों नेताओं की मुलाकात को लेकर चर्चाएं तेज हैं।

बताया जाता है कि कुमारस्वामी ने शुक्रवार शाम येडियूरप्पा से उनके सरकारी आवास कावेरी में मुलाकात की। दोनों के बीच करीब 20 मिनट बातचीत हुई। जद-एस नेता कुमारस्वामी के साथ मेलकोटे के विधायक सीएस पुट्टराजू भी थे। हालांकि, दोनों नेताओं के बीच विकास कार्यों से जुड़े मसले पर चर्चा होने की बात कही गई। कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार के पतन और भाजपा सरकार बनने के बाद दोनों नेताओं के बीच यह दूसरी मुलाकात है। इससे पहले दोनों नेताओं की मुलाकात 11 सितम्बर को हुई थी। पिछले कुछ समय से कुमारस्वामी कांग्रेस के खिलाफ ज्यादा आक्रामक रहे हैं। कांग्रेस नेताओं का कहना है कि कुमारस्वामी भाजपा और येडियूरप्पा को लेकर नरम हैं। विधानमंडल के मानसून सत्र के दौरान अविश्वास प्रस्ताव को लेकर दोनों विपक्षी दलों के रूख अलग-अलग थे। हालांकि, विधान परिषद में दोनों दलों की एकजुटता के कारण भाजपा सरकार को असहज स्थिति का सामना करना पड़ा था। परिषद में कांग्रेस और जद-एस के साथ आने के कारण श्रम कानूनों में संशोधन से संबंधित विधेयक खारिज हो गया था जबकि विधेयक को पहले ही विधानसभा से मंजूरी मिल चुकी थी। विपक्ष के विरोध के कारण भूमि सुधार और कृषि कानूनों में संशोधन से संबंधित विधेयक भी परिषद में पारित नहीं हो पाए जिसके कारण सरकार को भूमि सुधार कानून में संशोधन के लिए दुबारा अध्यादेश जारी करना पड़ा।
बताया जाता है कि भाजपा परिषद में महत्वपूर्ण विधेयकों को आसानी से पारित करवाने के लिए जद-एस से गठजोड़ की कोशिश कर रही है। दोनों दलों के बीच परिषद के सभापति व उपसभापति पदों को लेकर बातचीत की चर्चाएं भी हैं।

HDK Yeddi

मुलाकात के पीछे कोई राजनीति नहीं : येडि
जब पूर्व मुख्यमंत्री और जद-एस नेता एचडी कुमारस्वामी के साथ उनकी मुलाकातों के बारे में पूछा गया तो येडियूरप्पा ने कहा कि यह बैठक मंड्या में जिला सहकारी बैंक के बारे में थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि कुमारस्वामी मंड्या के जिला सहकारी बैंक के बारे में मुझसे चर्चा करने आए थे। इसके पीछे कोई और कारण नहीं है। उन्होंने इस बारे में और विस्तार से कोई जानकारी नहीं दी।

कुमारस्वामी से मिले सिरोया
इस बीच, येडियूरप्पा के करीबी माने जाने वाले विधान पार्षद लहर सिंह सिरोया ने कुमारस्वामी से शनिवार को उनके आवास पर मुलाकात की। सिरोया ने बाद में मुलाकात को शिष्टाचार भेंट बताते हुए कहा कि वे दीपावली की शुभकामनाएं देने गए थे।

Jeevendra Jha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned