कन्नड़ संगठनों का 25 को कर्नाटक बंद का आह्वान

किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी

By: Santosh kumar Pandey

Published: 22 Sep 2020, 10:13 PM IST

बेंगलूरु. भूमि सुधार, कृषि उपज बाजार समिति तथा श्रमिक कानून में संशोधन को वापस लेने की मांग को लेकर किसान, मजदूर तथा दलित संगठनों का दिन-रात का विरोध प्रदर्शन जारी रखने का फैसला किया गया है। इस बीच विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों के समर्थन में कई कन्नड़ संगठनों ने 25 सितंबर को कर्नाटक बंद का आह्वान किया है। कुछ टैक्सी तथा ऑटो रिक्शा चालक संघों ने भी किसानों का समर्थन करने की बात कही है।

नए कानून किसान तथा कृषि क्षेत्र को कंगाल कर देंगे

कर्नाटक राज्य किसान संघ के अध्यक्ष कोडीहल्ली चंद्रशेखर ने कहा कि नए कानून किसान तथा कृषि क्षेत्र को कंगाल कर देंगे। ऐसे संशोधन लाने से पहले राज्य सरकार ने किसी किसान संगठन के साथ बातचीत नहीं की है। इससे सरकार की तानाशाही मानसिकता उजागर हो रही है। राज्य सरकार अगर यह संशोधन वापस नहीं लेगी, तो राज्यव्यापी विरोध प्रदर्शन और तेज किए जाएंगे।

farmers_protest_04.jpg

उन्होंने कहा कि कृषि सुधार कानूनों के खिलाफ दिल्ली, हरियाणा, पंजाब तथा अन्य राज्यों में किसान सडक़ों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन केंद्र तथा राज्य सरकार इसकी अनदेखी कर रही है। वास्तविकता यह है कि ये कानून किसानों के लिए नहीं बल्कि बहुराष्ट्रीय कंपनियों के हितों की रक्षा के लिए बने हैं। केंद्र सरकार चाहती है कि कृषि उपजों के कारोबार के सूत्र कार्पोरेट क्षेत्र के हाथों में रहे।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned