कर्नाटक : सहायक रजिस्ट्रार ने आत्महत्या की

  • आत्महत्या करने से पहले एक चिट्ठी भी लिखी

By: Nikhil Kumar

Published: 11 Jun 2021, 10:12 PM IST

मैसूरु. कर्नाटक मुक्त विश्वविद्यालय के सहायक रजिस्ट्रार मंजुनाथ प्रसाद (55) ने गुुरुवार सुबह फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस के अनुसार मंजुनाथ प्रसाद ने विश्वविद्यालय के कैंपस स्थित सरकारी आवास में फांसी लगाई। उसने आत्महत्या करने से पहले एक चिट्ठी भी लिखी है। उसमें मंजुनाथ प्रसाद ने उसकी खुदकुशी के लिए रियाज और जावेद नामक दो शख्स को जिम्मेदार बताया है।

दोनों के बारे में उसकी पत्नी को सभी जानकारी है। मंजुनाथ ने उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने का अनुरोध किया है। उसने यह भी कहा है कि अगर दोनों को यूं ही छोड़ा गया तो अन्य लोगों को भी कई संकटों का सामना कर आत्महत्या करने पर मजबूर होना पड़ सकता है। नरसिंह राजा पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही है।

महिला चिकित्सक की जमानत याचिका खारिज

बेंगलूरु. शहर के 62वें अतिरिक्त सिटी सिविल न्यायालय ने रेमडेसिविर इंजेक्शनों की कालाबाजारी के आरोप में गिरफ्तार डॉ.पुष्पिता और उसकी सहेली प्रेमा की जमामत याचिका खारिज कर दी।

सरकारी वकील निर्मला रानी ने दलील पेश करते हुए कहा कि लोग चिकित्सकों को भागवान का दूसरा रूप मानते हैं। पुष्पिता जैसे आरोपियों ने रोगियों को टीका देने केे बजाए इसे चुरा कर काला बाजारी की है। यह घोर अपराध है। इसलिए दोनों आरोपियों को जमानत नहीं दी जाए। मामले की जांच जारी है। आरोपियों को जमानत दी गई तो वे बाहर आकर सबूतों को नष्ट करेंगी। दोनों आरोपियों के निवास से 60 से अधिक इंजेक्शन जब्त किए गए थे। दलीलें सुनने के बाद न्यायालय ने याचिका खारिज कर दी।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned