कर्नाटक मंत्रिमंडल का विस्तार जल्द होगा: वेणुगोपाल

कर्नाटक मंत्रिमंडल का विस्तार जल्द होगा: वेणुगोपाल

Ram Naresh Gautam | Publish: Sep, 16 2018 11:52:40 PM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 11:52:41 PM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

विदेश प्रवास से लौटे सिद्धरामय्या, वेणुगोपाल, परमेश्वर, गुंडुराव व खंड्रे के साथ की बैठक

बेंगलूरु. एआइसीसी के महासचिव व राज्य के प्रभारी के.सी. वेणुगोपाल ने कहा कि राज्य मंत्रिमंडल का विस्तार जल्द ही किया जाएगा। पहले की गई घोषणा के मुताबिक इस माह के अंत तक मंत्रिमंडल का विस्तार कर दिया जाएगा और इसे टालने का सवाल ही नहीं उठता है।
वेणुगोपाल ने रविवार को विदेश प्रवास से लौटे पूर्व मुख्यमंत्री व समन्वय समिति के अध्यक्ष सिद्धरामय्या, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश गुंडुराव, कार्यकारी अध्यक्ष ईश्वर खंड्रे, उप मुख्यमंत्री जी. परमेश्वर के साथ सिद्धरामय्या के निवास पर मौजूदा राजनीतिक उठापटक के संबंध में विस्तार से चर्चा की और पार्टी में चल रही अंदरूनी कलह को दूर करने के लिए सिद्धरामय्या से सहयोग देने का अनुरोध किया। पार्टी नेताओं ने बेलगावी जिला इकाई में उभरे मतभेदों, भाजपा के ऑपरेशन कमल, मंत्रिमंडल के विस्तार, निगम और मंडलों में नियुक्तियां, विधान परिषद की तीन सीटों के उप चुनाव सहित विभिन्न मसलों पर विस्तार से चर्चा की।
बैठक में भाग लेने के बाद वेणुगोपाल ने कहा कि जारकीहोल्ली बंधुओं को लेकर पार्टी में कोई समस्या नहीं है और इस वजह से सरकार या पार्टी को किसी कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार के आयकर विभाग व प्रवर्तन निदेशालय जैसी एजेंसियो का दुरुपयोग करने व भाजपा के धनबल का इस्तेमाल कर विधायकों को तोडऩे की कोशिशों को कोई सफलता नहीं मिलेगी। पिछले दरवाजे से सत्ता हथियाने की भाजपा की कोशिशें कामयाब नहीं होगी। गठबंधन सरकार को कोई खतरा नहीं है। सरकार ुस्थिर है और पूरे पांच साल तक सत्ता में रहेगी। इस बारे में किसी को संदेह करने की जरूरत नहीं है।
इस बीच सूत्रों ने बताया कि बैठक के दौरान सिद्धरामय्या ने गठबंधन सरकार को अस्थिर करने में उनका हाथ होने संबंधी कांग्रेस के भीतर से लगाए जा रहे आरोपों पर नाराजगी जताई। इस पर वेणुगोपाल ने कहा कि इस तरह के आरोप केवल मीडिया में लगाए जा रहे हैं। पार्टी के किसी भी नेता ने इस तरह का बयान नहीं दिया है। सिद्धरामय्या ने कहा कि वे इस बात को कभी नहीं भूलेंगे कि पार्टी ने उन्हें पूरे पांच साल तक मुख्यमंत्री रहने का अवसर दिया।
उन्होंने कहा कि वे गठबंधन सरकार को अस्थिर करने के किसी भी प्रयास का समर्थन नहीं करते हैं ना ही ऐसा कोई काम ही करेंगे। इसके बावजूद उन पर पार्टी के भीतर से इस तरह के आरोप लगाए जा रहे हैं जिनका उल्लेख करना जरूरी हो जाता है। बताया गया है कि बैठक में कांग्रेस में चल रही उठापटक से निपटने के लिए सभी नेताओं के बीच मिलकर काम करने पर सहमति बनी।

 

Ad Block is Banned