scriptKarnataka: Educational institutions not to celebrate for 2 months | कर्नाटक : शिक्षण संस्थान अभी दो माह तक नहीं करें समारोहों का आयोजन | Patrika News

कर्नाटक : शिक्षण संस्थान अभी दो माह तक नहीं करें समारोहों का आयोजन

- केरल और महाराष्ट्र से आने वाले विद्यार्थियों के लिए आरटी-पीसीआर जांच की निगेटिव रिपोर्ट जरूरी

बैंगलोर

Published: November 29, 2021 11:01:03 am

बेंगलूरु. धारवाड़, मैसूरु व बेंगलूरु के शिक्षण संस्थानों में कोविड-19 क्लस्टर सामने आने के बाद प्रदेश सरकार ने रविवार को नए निर्देश जारी करते हुए निगरानी प्रणाली को मजबूत किया है।

प्रदेश के मुख्य सचिव टी. के. अनिल कुमार ने रविवार को जारी परिपत्र में कहा कि केरल और महाराष्ट्र से आने वाले विद्यार्थियों के लिए आरटी-पीसीआर जांच की निगेटिव रिपोर्ट जरूरी है। रिपोर्ट 72 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए। 12 से 27 नवंबर के बीच केरल से कर्नाटक के मेडिकल, पैरामेडिकल व ऐसे अन्य शिक्षण संस्थाना पहुंचे विद्यार्थियों के लिए आरटी-पीसीआर जांच अनिवार्य है जबकि भविष्य में आने वाले ऐसे विद्यार्थियों को पहुंचने के सातवें दिन कोविड के लिए जांचा जाएगा। कोविड क्लस्टर सामने आने के बाद पॉजिटिव लोगों को प्रोटोकॉल के अनुसार उपचार होगा। निगेटिव निकलने वाले लोगों की एक सप्ताह बाद कोविड जांच होगी। तब तक सभी क्वारंटाइन रहेंगे। दक्षिण कन्नड़, कोडुगू, चामराजनगर व मैसूरु जिले के उपायुक्तों को पहले से स्थापित सभी चेक पोस्ट पर कोविड स्क्रीनिंग शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं।

कर्नाटक : शिक्षण संस्थान अभी दो माह तक नहीं करें समारोहों का आयोजन
कर्नाटक : शिक्षण संस्थान अभी दो माह तक नहीं करें समारोहों का आयोजन

उन्होंने आगे कहा कि शिक्षा, व्यावार व अन्य कारणों से रोजाना कर्नाटक आने-जाने वालों को हर दूसरे सप्ताह कोविड जांच करानी होगी। रिपोर्ट निगेटिव आने पर ही कर्नाटक में प्रवेश का प्रावधान किया गया है।

कॉलेजों को जारी एडवाइजरी में मुख्य सचिव ने कहा कि मेडिकल, पैरामेडिकल व अन्य ऐसे कॉलेजों में विद्यार्थियों की प्रतिदिन कोविड स्क्रीनिंग होनी चाहिए। लक्षण वाले विद्यार्थियों के लिए आरटी-पीसीआर जांच अनिवार्य है। सामाजिक व सांस्कृति समारोह अगले दो माह तक स्थगित किए जा सकते हैं। कॉन्फ्रेंस, सेमिनार व अन्य शैक्षणिक कार्यक्रम भी स्थगित किए जा सकते हैं। स्थगन संभव नहीं होने की स्थिति में कार्यक्रम ऑनलाइन आयोजित किए जाएं। इस दौरान शारीरिक रूप से उपस्थिति होने वाले लोगों की संख्या सीमित हो। कॉलेज प्रबंधन कोविड अनुरूप व्यवहार और 18 वर्ष की आयु के ऊपर सभी विद्यार्थियों का टीकाकरण सुनिश्चित करें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.