श्रमिक एक्सप्रेस से लौट रहे लोगों की यात्रा का खर्च वहन करेगी सरकार

सीएम ने कहा, वे हमारे अपने लोग, सहायता के हकदार

By: Santosh kumar Pandey

Published: 22 May 2020, 07:46 PM IST

बेंगलूरु. श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेनों से 31 मई तक अपने राज्य को वापसी कर रहे प्रवासी मजदूरों की यात्रा का खर्च कर्नाटक सरकार वहन करेगी।

मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा ने एक ट्वीट में यह घोषणा करते हुए लिखा कि कर्नाटक सरकार ने यात्रा का खर्च नहीं वहन कर पाने वाले प्रवासी मजदूरों के अनुरोध पर विचार किया है। सरकार का मानना है कि वे हमारे अपने लोग हैं और उनकी सहायता की जानी चाहिए।

उन्होंने लिखा कि राज्य सरकार 31 मई तक प्रवासी मजदूरों और यहां फंसे अन्य लोगों की श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेनों के जरिए मूल राज्य वापसी का खर्च वहन करेगी।

बता दें कि रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि रेलवे देश के किसी भी जिले से श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने के लिए तैयार है।

बता दें कि देश के अनेक हिस्सों के लिए बेंगलूरु, हुब्बल्ली सहित अनेक स्टेशनों से प्रतिदिन श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है जिनके माध्यम से बिहार, यूपी, ओडिशा, छत्तीसगढ़ सहित अन्य राज्यों के हजारों लोग अपने राज्य लौट रहे हैं।

राज्य के लिए ट्रेन सेवा शुरू
कर्नाटक में शुक्रवार से राज्य के लिए ट्रेन सेवा भी शुरू हो गई है। कोरोना के मरीजों की बढ़ती संख्या के बीच कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते राज्य से राज्य में आवागमन के लिए 22 मार्च से बंद हुई रेल सेवा शुक्रवार से शुरू हो गई है। शुक्रवार को ट्रेन सुबह आठ बजे केएसआर बेंगलूरु से बेलगावी रवाना हुई। ट्रेन में बेंगलूरु से 274 यात्रियों ने रिजर्वेशन करवाया था वहीं इसी ट्रेन में दावणगेरे से 64 लोगों ने रिजर्वेशन करवाया था। दूसरी ट्रेन बेंगलूरु से मैसूरु के लिए रवाना हुई थी। दोनों ही ट्रेनें सप्ताह में छह दिन चलेंगी। रविवार को इनका परिचालन नहीं होगा।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned