ग्राम पंचायत चुनावों में भाजपा, कांग्रेस ने बड़ी जीत का दावा किया

दो चरणों में हुए चुनावों के लिये मतों की गिनती का काम अभी जारी

By: Sanjay Kumar Kareer

Published: 30 Dec 2020, 11:53 PM IST

बेंगलूरु. कर्नाटक में सत्ताधारी भाजपा और विपक्षी कांग्रेस ने करीब 5700 ग्राम पंचायतों में हाल में हुए चुनावों में अपने समर्थित उम्मीदवारों की बड़ी जीत का बुधवार को दावा किया। जमीनी स्तर पर हुए चुनावों के लिये मतों की गिनती का काम अभी जारी है।

कर्नाटक में 5728 ग्राम पंचायतों की 82616 सीटों पर 22 और 27 दिसंबर को दो चरणों में हुए चुनाव में मतपत्रों का इस्तेमाल किया गया था और इस दौरान 78.58 प्रतिशत मतदान हुआ। ये चुनाव पार्टी के चुनाव चिन्ह पर नहीं लड़े गए थे। इन चुनावों के लिये बुधवार सुबह मतगणना हुई।

कर्नाटक राज्य निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने कहा कि 226 तालुका मुख्यालयों में कोविड-19 दिशानिर्देशों का पालन करते हुए मतगणना की गई। रात तक आधिकारिक रूप से किसी नतीजे की घोषणा यद्यपि नहीं हुई थी लेकिन भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नलिन कुमार कटील और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सिद्धरामय्या ने अपनी पार्टी के समर्थन वाले उम्मीदवारों के अधिकतम सीटें जीतने का दावा किया।

कुल 2,22,814 उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे जिनमें से 8074 उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित हो गए। पार्टी के चिन्ह पर चुनाव नहीं होने के बावजूद सभी राजनीतिक दलों ने अपने समर्थक उम्मीदवार की जीत के लिये सभी प्रयास किये जिससे जमीनी स्तर की राजनीति पर उनकी पकड़ मजबूत हो।

कटील ने एक बयान में कहा कि भाजपा ने “अधिकतम सीटें जीती” हैं और इसका श्रेय उन्होंने पार्टी द्वारा बनाई गई विभिन्न रणनीतियों को दिया। वहीं सिद्धरामय्या ने सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा कि किसानों ने भाजपा को सबक सिखाया है।

उन्होंने कहा, ग्रामीण भारत भाजपा द्वारा क्रियान्वित नीतियों से आजिज है। किसान कृषि कानूनों के खिलाफ हैं और ग्राम पंचायत चुनावों में उन्हें भाजपा को सबक सिखाने का उपयुक्त मौका मिला। खबरों से संकेत मिल रहा है कि कर्नाटक कांग्रेस द्वारा समर्थित उम्मीदवार जीत रहे हैं।

जद (एस) ने चुनाव के नतीजों को लेकर कोई बयान नहीं दिया है।

Sanjay Kumar Kareer Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned