15 लोगों को कोरोना संक्रमण, पांच जने ठीक हुए: श्रीरामुलु

बेंगलूरु के विक्टोरिया अस्पताल में 2 हजार, के.सी. जनरल अस्पताल में 400, जयनगर अस्पताल में 400 तथा किम्स अस्पताल में एक हजार बिस्तर कोरोना संक्रमितों के लिए आरक्षित रखे गए हैं। इस तरह राज्य में कोरोना के रोगियों के लिए करीब 10 हजार बिस्तर आरक्षित किए गए हैं। इन अस्पतालों को पूरी तरह से कोरना संक्रमितों के लिए ही आरक्षित कर दिए जाने की मांग की जा रही है। इस बारे में टास्क फोर्स समिति की बैठक में चर्चा करके निर्णय किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमितों के कितने ही प्रकरण सामने आने पर उनका सा

बेंगलूरु

राज्य के स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्री बी. श्रीरामुलु ने कहा कि राज्य में 15 लोग कोरोना वायरस सं संक्रमित हुए हैं और उनमें स 5 जने ठीक हो गए हैं और इनमें से दो जनों को शुुक्रवार को अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी।

उन्होंने शुक्रवार को विधानसौधा में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राज्य में अब कुल 15 जनें कोरोना से संक्रमित हैं। बेंगलूरु में 13 जने और कलबुर्गी में 3 जनें संक्रमित हुए हैं जिनमें से एक जने की मौत हो चुकी है। मेडिकेरी में एक व्यक्ति के संक्रमित होने के बारे में पता चला है। कुल संक्रमितों से 5 जने पूरी तरह से ठीक हो गए हैं। उन्होंने बताया कि राज्य में अब तक 1 लाख 22 हजार,53 जनों की परीक्षण किया गया है।

बेंगलूरु अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर 86,231 तथा मेंगलूरु हवाईअड्डे पर 30,006 जनों की परीक्षण किया गया है। इसी तरह कारवार तथा मेंगलूरु बंदरगाहों पर 5,696 लोगों का कोरोना परीक्षण किया गया है।मंत्री ने बताया कि राज्य में अब तक 1143 जनों के रक्त व कफ का परीक्षण किया गया है जिनमें से 915 जनों की रिपोर्ट्स आ गई है और सभी जने कोरना नेगेटिव पाए गए हैं। शेष परीक्षण रिपोर्ट्स मिलनी बाकी हैं।

उन्होंने बताया कि राज्य में करीब 2280 लोगों को घरों पर ही आयसोलेशन में रखा गया है जबकि करीब 97 लोगो ंको अस्पतालों में आयसोलेशन में रखा गया है। उन्होंने कहा कि कोरना संक्रमण से किसी को भयभीत होने की आवश्यकता नहीं है। गुरुवार को 3 हजार से अधिक लोगों ने खुद ही आकर अपने स्वास्थ्य की जांच करवाई है। उन्होंने कहा कि यदि लोग सरकार के नियमोंं का पालन करेंगे तो उनको किसी तरह की समस्या नहीं होगी क्योंकि सरकार संकट की इस घड़ी में लोगों के साथ है। अन्य देशों से आए लोगों को घर पर ही नजरबंदी में रका जा रहा है।

उन्होंने बताया कि बेंगलूरु के विक्टोरिया अस्पताल में 2 हजार, के.सी. जनरल अस्पताल में 400, जयनगर अस्पताल में 400 तथा किम्स अस्पताल में एक हजार बिस्तर कोरोना संक्रमितों के लिए आरक्षित रखे गए हैं। इस तरह राज्य में कोरोना के रोगियों के लिए करीब 10 हजार बिस्तर आरक्षित किए गए हैं। इन अस्पतालों को पूरी तरह से कोरना संक्रमितों के लिए ही आरक्षित कर दिए जाने की मांग की जा रही है। इस बारे में टास्क फोर्स समिति की बैठक में चर्चा करके निर्णय किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमितों के कितने ही प्रकरण सामने आने पर उनका सामना करने के लिए सरकार ने पूरी तैयारी कर रखी है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 22 मार्च को जनता कफ्र्यू का आह्वान किया है। इस संबंध में उन्होने देश की जनता से की जनता से सुबह 7 बजे से लेकर रात 9 बजे तक घरों से बाहर नहीं निकलने की अपील की है। हम सभी को प्रधानमंत्री के इस आह्वान मं हाथ बंटाकर कोरोना से लडऩे की प्रतिबद्धता व्यक्त करनी चाहिए।

Corona virus
Surendra Rajpurohit Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned