केरल सीमा पर कोविड को लेकर सख्ती शुरू

- असमंजस की स्थिति
- लोगों में आक्रोश, किया प्रदर्शन

By: Nikhil Kumar

Published: 23 Feb 2021, 01:36 PM IST

बेंगलूरु. केरल और महाराष्ट्र (Kerala and Maharashtra) में कोविड के बढ़ते मामलों के मद्देनजर प्रदेश सरकार ने सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। इन दोनों राज्यों से आने-जाने वाले यात्रियों पर सख्ती बढ़ाने के साथ मेंगलूरु सहित दक्षिण कन्नड़ (Mengaluru and Dakshina Kannada) के विभिन्न क्षेत्रों में जाने वाले लोगों की परेशानी बढ़ गई है। केरल के कासरगोड जिले के तलपाडी में लोगों ने सोमवार को इसके खिलाफ प्रदर्शन भी किया। प्रदर्शनकारियों ने सख्ती जारी रहने पर मेंगलूरु को केरल से जोडऩे वाले उच्च पथ को जाम करने की भी चेतावनी दी।

लोगों को काफी मशक्कत करनी पड़ी

नए नियमों के अनुसार दोनों राज्यों से कर्नाटक में प्रवेश के लिए आरटी-पीसीआर जांच की निगेटिव रिपोर्ट (RT-PCR Negative Report Compulsary) अनिवार्य है। केरल के कासरगोड से तलपाडी सीमा (kasaragod and talapady Border) पार कर मेंगलूरु पहुंचने के लिए लोगों को काफी मशक्कत करनी पड़ी। कोविड निगेटिव प्रमाण पत्र को लेकर तलपडी चेकपोस्ट पर अफरा-तफरी का माहौल रहा। करीब एक किलोमीटर तक वाहनों की लाइन लगी रही। वायनाड और कासरगोड जिलों सहित महाराष्ट्र और केरल से जुड़े सीमावर्ती जिलों में विभिन्न चेकपोस्ट पर भी प्रमाण पत्र जांचे गए। प्रमाण पत्र नहीं होने के कारण कई लोगों को लौटना पड़ा।

पूछताछ करने और प्रमाण पत्र जांच करने में लगे रहे

तहसीलदार और जिला स्वास्थ्य अधिकारियों की अगुवाई में पुलिस के जवान पड़ोसी राज्य से आए लोगों से पूछताछ करने और प्रमाण पत्र जांच करने में लगे रहे। यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई और मास्क चेक किया गया। अधिकारियों ने लोगों से कोरोना के सभी नियमों का पालन करने की अपील की। सीमावर्ती क्षेत्रों में रहने वाले कर्नाटक के लोगों ने जांच के कारण उन्हें हो रही परेशानियों का हवाला देते हुए चेकपोस्ट पर प्रदर्शन भी किया। मुख्यमंत्री और जिलाधिकारी के खिलाफ नारेबाजी की।

प्रमाण पत्र दिखाना अनिवार्य

अधिकारियों ने बताया कि केरल से जो लोग कर्नाटक (Karnataka) में दाखिल होना चाहते हैं उनके लिए यात्रा से 72 घंटे पहले तक की आरटी-पीसीआर जांच का प्रमाण पत्र दिखाना अनिवार्य है। कोरोना वायरस संक्रमण नहीं होने का प्रमाण पत्र रखने वाले लोगों को ही प्रवेश की अनुमति दी जा रही है।

एम्बुलेंस के आवागमन पर कोई प्रतिबंध नहीं

केरल में कोविड के मामले बढऩे के कारण दक्षिण कन्नड़ जिले में केरल से जुड़े विभिन्न मार्गों पर तैनात स्वास्थ्य और पुलिसकर्मियों ने प्रमाण पत्रों का सत्यापन करने के बाद लोगों को कर्नाटक में प्रवेश की अनुमति दी। एम्बुलेंस (Ambulance) के आवागमन पर कोई प्रतिबंध नहीं है। लेकिन मरीज के साथ आ रहे लोगों के लिए कोविड निगेटिव प्रमाण पत्र अनिवार्य है जो 72 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए।

उधर, कोगनोली टोल प्लाजा पर भी महाराष्ट्र से कर्नाटक आने वाले यात्रियों से कोविड निगेटिव प्रमाण प्रस्तुत करने के लिए कहा गया। यहां भी वाहनों की लंबी-लंबी कतारें देखी गईं। मैसूरु और कोडुगू के केरल से सटी सीमाओं पर भी जांच की गई।

Show More
Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned