scriptKarnataka: Kannada to be compulsory from class one to twelve in NEP | कर्नाटक : एनइपी में कक्षा एक से बारह तक अनिवार्य हो कन्नड़ | Patrika News

कर्नाटक : एनइपी में कक्षा एक से बारह तक अनिवार्य हो कन्नड़

- स्थिति पत्र में त्रिभाषा नीति का प्रस्ताव भी

बैंगलोर

Published: July 12, 2022 07:52:17 am

National Education Policy (एनइपी) के तहत राज्य में भाषा शिक्षा पर राज्य के स्थिति पत्र (पोजिशन पेपर) में एक त्रिभाषा नीति का प्रस्ताव किया गया है, जिसमें कक्षा 1 से 12 तक, भाषा के रूप में kannada को अनिवार्य बताया गया है। हालांकि, पोजिशन पेपर में कहा गया है कि कक्षा 5 तक शिक्षा का माध्यम मातृभाषा या घरेलू भाषा या स्थानीय भाषा या कन्नड़ होना चाहिए। इससे शिक्षा के प्राथमिक चरण में द्विभाषी माध्यम का विकल्प खुला रहेगा। जब कक्षा में ऐसे बच्चे हों, जिनकी मातृभाषा अंग्रेजी है या अन्य राज्यों के बच्चे हैं, जो स्थानीय भाषा नहीं जानते हैं, तो शिक्षण के लिए मातृभाषा, स्थानीय भाषा या कन्नड़ के अलावा अंग्रेजी का उपयोग किया जा सकता है। अन्य कक्षाओं के लिए शिक्षा का माध्यम द्विभाषी होना चाहिए।

कर्नाटक : एनइपी में कक्षा एक से बारह तक अनिवार्य हो कन्नड़
कर्नाटक : एनइपी में कक्षा एक से बारह तक अनिवार्य हो कन्नड़

शिक्षकों को मातृभाषा या कन्नड़ और अंग्रेजी का प्रयोग करना चाहिए। बच्चों को किसी भी भाषा में परीक्षा लिखने की अनुमति दी जा सकती है। यह CBSE, ICSE और अंतरराष्ट्रीय स्कूलों सहित सभी बोर्ड पर लागू होगा।

शिक्षा के द्विभाषी माध्यम को अन्य राज्यों के छात्रों के लिए सुविधाजनक बनाने और राज्य के सभी स्कूलों में लागू करने योग्य बनाने की सिफारिश की गई है ताकि सभी को समान और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा सुनिश्चित की जा सके।

अन्य राज्यों के अभिभावक अंग्रेजी को शिक्षा के माध्यम के रूप में पसंद कर सकते हैं। संभावना है कि अभिभावक संवैधानिक अधिकार के तहत भी इसकी मांग कर सकते हैं। ऐसे मामलों में संबंधित बच्चों को छूट दी जा सकती है। ऐसी कक्षाओं में अंग्रेजी और कन्नड़ द्विभाषी माध्यम को प्रारंभिक चरण से ही लागू किया जा सकता है।

प्रत्येक राज्य को NEP को लागू करने के संबंध में 26 विभिन्न शीर्षकों के तहत पोजिशन पेपर तैयार करना है। इसके बाद पोजिशन पेपर एनसीआरटी की वेबसाइट पर अपलोड किया जाएगा। केंद्र राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा तैयार करने के लिए स्थिति पत्रों से 4 सिफारिशों का उपयोग करेगा। राज्य का स्थिति पत्र इस विषय पर राज्य के रुख का प्रतिनिधित्व करता है और इसका उपयोग राज्य के पाठ्यक्रम को तैयार करने के लिए भी किया जा सकता है।

पोजीशन पेपर यह स्पष्ट करता है कि स्कूली बच्चों को पढ़ाने वाली तीन भाषाओं में कोई पदानुक्रम नहीं होगा। प्रारंभिक चरण (प्री-स्कूल के तीन वर्ष) के दौरान, कन्नड़ को पहली भाषा के रूप में पढ़ाया जाएगा। मातृभाषा या घरेलू भाषा (यदि यह कन्नड़ के अलावा है) दूसरी भाषा होगी। स्थानीय भाषा (यदि यह कन्नड़ के अलावा है) तो तीसरी भाषा होगी।

प्रारंभिक चरण में, कोई पाठ्यपुस्तक नहीं होगी। लेकिन, एक्टिविटी बुक्स होंगी। ऐसी किताबें मातृभाषा, घरेलू भाषा, स्थानीय भाषा या कन्नड़ में होनी चाहिए।
कक्षा 1 से 8 के लिए कन्नड़ (अनिवार्य) को भाषा एक के रूप में पढ़ाया जाएगा। राज्य शिक्षा या भारतीय शास्त्रीय भाषा में पहले से शामिल मातृभाषा, घरेलू भाषा, स्थानीय भाषा को भाषा दो के रूप में लिया जाएगा।

इनमें से अधिकांश सिफारिशें उच्च ग्रेड के लिए भी लागू हैं। लेकिन, कक्षा 9 से 12 तक के छात्रों के पास भाषा 3 के रूप में विदेशी भाषा के अध्ययन का विकल्प होता है। कक्षा 11 और 12 में, छात्रों के पास 8वीं अनुसूची से कन्नड़ या भारतीय भाषा को भाषा 1 के रूप में पढऩे का विकल्प होता है। लेकिन, जो छात्र कन्नड़ नहीं चुनेंगे, उन्हें 2 या 3 महीने की अवधि में कन्नड़ को एक संचारी भाषा के रूप में पढ़ाना होगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Train Accident: महाराष्ट्र के गोंदिया में रेल हादसा, पैसेंजर ट्रेन ने मालगाड़ी को मारी टक्कर; 50 से अधिक यात्री घायलदिल्ली में आज पीएम मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय कैबिनेट की बैठक, मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें तेजगुलाम नबी ने कांग्रेस को दिया झटका, ठुकराया JK कैंपेन कमेटी का पद, बताया ये कारणकलकत्ता हाईकोर्ट की कड़ी टिप्पणी, कहा - 'पश्चिम बंगाल में बिना पैसे दिए नहीं मिलती सरकारी नौकरी'Pro Boxing : रायपुर में आज दिखेगा मुक्केबाजी का रोमांच, विजेंदर सिंह व इलियासु सुले होंगे आमने-सामनेस्टूडेंट्स के लिए ये हैं सस्ते इलेक्ट्रिक स्कूटर, डेली यूज़ के लिए बन सकते हैं बेस्ट ऑप्शनJammu-Kashmir News: शोपियां में फिर आतंकी हमला, CRPF के बंकर पर ग्रेनेड अटैकओडिशा के 10 जिलों में बाढ़ जैसे हालात, ODRAF और NDRF की टीमों को किया गया तैनात
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.