scriptKarnataka: Newborn in NICU for 75 days, won the battle for life | कर्नाटक : फाइटर निकली 26वें सप्ताह में जन्मी 700 ग्राम वजनी बच्ची | Patrika News

कर्नाटक : फाइटर निकली 26वें सप्ताह में जन्मी 700 ग्राम वजनी बच्ची

- 75 दिन तक एनआइसीयू में रही नवजात, जीती जिंदगी की जंग

बैंगलोर

Updated: January 12, 2022 02:36:49 pm

बेंगलूरु. शादी के कई वर्षों बाद गोद में संतान की किलकारी तो गूंजी लेकिन शिशु और मां कई महीनों तक एक दूसरे की ममता से वंचित रहने पर मजबूर हो गए। इस बीच ऐसे कई अवसर आए जब मां को जिंदगी बंद मु_ी से रेत की तरह फिसलती नजर आई।

कर्नाटक : फाइटर निकली 26वें सप्ताह में जन्मी 700 ग्राम वजनी बच्ची
representational image

बच्ची के फेफड़े अविकसित होने के कारण उसे कई सप्ताह तक वेंटिलेटर पर रखना पड़ा। दिल में भी छेद था। फेफड़ों को फैलाने के लिए चिकित्सकों ने विशेष दवा दी। बच्ची की आंतें भी अपरिपक्व थीं, जिसके कारण उनके फटने का खतरा ज्यादा था। उसे पर्याप्त पोषण मिले इसके लिए हृदय के पास से होते हुए गर्भनाल में एक कृत्रिम पाइप लगाया गया। इसी के माध्यम से करीब दो माह तक बच्ची को पोषण प्राप्त हुआ। इसके बाद ही मुंह के माध्यम से वास्तविक भोजन शुरू किया गया।

आइसीयू में 75 दिन ममता को तरसी
रेनबो चिल्ड्रेन्स अस्पताल में बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. बाबू एस. मदारकर ने बताया कि बच्ची 75 दिनों तक आइसीयू में मौत से जिंदगी की जंग जड़ती रही। ऐसे छोटे बच्चों में रक्त वाहिकाएं बेहद नाजुक होती हैं और परिणामस्वरूप मस्तिष्क में रक्तस्राव का खतरा रहता है। शारीरिक प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होने व अस्पताल में लंबे समय तक रहने के कारण उसे रक्त और मस्तिष्क में संक्रमण का सामना करना पड़ा। एंटीबायोटिक्स और इम्युनोग्लोबुलिन जैसी विशेष दवाओं की आवश्यकता पड़ी। उसे कई बार रक्त चढ़ाने की भी जरूरत पड़ी।

जीने की जिद पर अड़ी रही
स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. मेघना रेड्डी ने बताया कि 26वें सप्ताह में प्रसव आम नहीं है। ज्यादातर मामलों में ऐसे शिशुओं का बचना असंभव होता है। इस उम्र में, मस्तिष्क, हृदय, फेफड़े और यकृत जैसे अधिकांश अंग शरीर के समर्पित कार्यों को करने के लिए अच्छी तरह से विकसित नहीं होते हैं। इस मामले में बच्ची शुरू से ही लड़ती रही। जीने की जिद पर अड़ी रही।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Azadi Ka Amrit Mahotsav में बोले पीएम मोदी- ये ज्ञान, शोध और इनोवेशन का वक्तपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलNEET UG PG Counselling 2021: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- नीट में OBC आरक्षण देने का फैसला सही, सामाजिक न्‍याय के लिए आरक्षण जरूरीटोंगा ज्वालामुखी विस्फोट का भारत पर भी पड़ सकता है प्रभाव! जानिए सबसे पहले कहां दिखा असरCorona cases in India: कोरोना ने तोड़ा 8 महीने का रिकॉर्ड; 24 घंटे में 3 लाख से ज्यादा कोरोना के नए केस, मौत का आंकड़ा 450 के पारराहुल गांधी से लेकर गहलोत तक कांग्रेस के नेता देश के विपरीत भाषा बोलते हैं : पूनियांश्रीलंकाई नौसेना जहाज की भारतीय मछुआरों के नौका से टक्कर, सात मछुआरे बाल बाल बचेटीआई-लेडी कॉन्स्टेबल की लव स्टोरी से विभाग में हड़कंप, दो बच्चों का पिता है टीआई
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.