scriptkarnataka Political drama : How BSY soften stand after surprised BJP | कर्नाटक का सियासी नाटक: भाजपा आलाकमान को हैरत में डाल नरम पड़े येडियूरप्पा...क्या है सियासी राज? | Patrika News

कर्नाटक का सियासी नाटक: भाजपा आलाकमान को हैरत में डाल नरम पड़े येडियूरप्पा...क्या है सियासी राज?

येडियूरप्पा ने कहा कि उन्होंने केवल एक सुझाव दिया था और अंतिम निर्णय केवल पार्टी आलाकमान ही लेगा

बैंगलोर

Published: July 24, 2022 02:50:14 am

बेंगलूरु. सार्वजनिक तौर पर छोटे बेटे बी.वाई. विजयेंद्र के शिवमोग्गा जिले की अपनी परंपरागत सीट शिकारीपुर से अगले साल होने वाला विधानसभा चुनाव लडऩे की घोषणा कर भाजपा आलाकमान को हैरत में डालने वाले पूर्व मुख्यमंत्री और दिग्गज लिंगायत नेता बीएस येडियूरप्पा B S yediyurappa के सुर एक दिन बाद ही शनिवार को नरम पड़ गए।
yeddi21.jpg

पार्टी सूत्रों के मुताबिक शिकारीपुर में अगले चुनाव में अपनी जगह विजयेंद्र के लिए समर्थन मांगने वाले येडियूरप्पा को बेंगलूरु पहुंचने पर भाजपा आलाकमान के संदेश मिलने के बाद इसे लेकर नरम रूख अपनाने और सफाई देने को विवश होना पड़ा। शनिवार को विजयेंद्र की उम्मीदवारी पर यू-टर्न लेते हुए येडियूरप्पा ने कहा कि उन्होंने केवल एक सुझाव दिया था और अंतिम निर्णय केवल पार्टी आलाकमान ही लेगा।

बताया जाता है कि येडियूरप्पा की अचानक की गई घोषणा से लेकर भाजपा अचंभित रह गई थी। प्रदेश के कई नेताओं की भौहें तन गई थीं। आलाकमान ने येडियूरप्पा के एकतरफा घोषणा पर असंतोष व्यक्त किया। येडियूरप्पा ने यह ऐसे समय में की थी जब भाजपा राष्ट्रपति चुनाव में अपने उम्मीदवार की जीत का जश्न मनाने में व्यस्त थी। आलाकमान ने नाराजगी का संदेश भी दिल्ली से बेंगलूरु पहुंचाने में देर नहीं की। इस पूरे घटनाक्रम ने येडियूरप्पा को रूख नरम करने को मजबूर कर किया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के विदाई भोज में भाग लेने के बाद दिल्ली से लौटे मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई भी राजस्व मंत्री आर. अशोक के साथ शनिवार को येडियूरप्पा से मिलने उनके आवास पर पहुंचे। बताया जाता है कि दोनों नेताओं केे बीच काफी देर तक बातचीत हुई। बताया जाता है कि दोनों नेताओं ने आलाकमान और येडियूरप्पा के बीच गतिरोध को तोडऩे की कोशिश की। येडियूरप्पा के बदले रूख से फिलहाल भाजपा को राहत मिल गई है।

येडियूरप्पा के एक करीबी नेता ने कहा कि भले ही येडियूरप्पा को स्पष्टीकरण जारी करना पड़ा हो, मगर शिकारीपुर में उनके बयान लोगों, खासकर लिंगायत समुदाय में यह संदेश तो पहुंचा ही दिया कि वे क्या चाहते हैं। अब भाजपा आलाकमान के लिए इसकी अवहेलना करना मुश्किल है।
कर्नाटक का सियासी नाटक : येडियूरप्पा के बदले सुर, BJP को मिली राहत
कार्यकर्ताओं ने बयान देने के लिए किया मजबूर
विजयेंद्र की शिकारीपुर से उम्मीदवारी की अप्रत्याशित घोषणा पर येडियूरप्पा ने कहा कि उन्हें यह बयान देने के लिए मजबूर किया गया। उन्होंने कहा 'शिकारीपुर में हमारे कार्यकर्ता चाहते थे कि मैं चुनाव लड़ूं। लेकिन, अधिक संभावना मेरे चुनाव नहीं लडऩे का है। मैं अपनी भूमिका प्रदेश की यात्रा और भाजपा को सत्ता में वापस लाने के लिए मदद करने तक सीमित रखूंगा। मैं अपने कार्यकर्ताओं को शर्मिंदा नहीं करना चाहता था। इसलिए मैंने कहा कि विजयेंद्र चुनाव लड़ेंगे। यह अप्रत्याशित था। इसमें कोई भ्रम नहीं होना चाहिए।Ó

येडि का दावा: विजयेंद्र में जीतने की क्षमता
येडियूरप्पा के अनुसार, विजयेंद्र पर मैसूरु या चामराजनगर जिले से चुनाव लडऩे का काफी दबाव है। लेकिन, पार्टी जहां से चाहेगी और जो फैसला करेगी, विजयेंद्र वहीं से चुनाव लड़ेंगे। पार्टी जो भी फैसला करेगी, सभी उसका पालन करेंगे। विजयेंद्र जहां भी चुनाव लड़ेंगे, वहां से जीतने की क्षमता रखते हैं।

सीमित होगी भूमिका
चार बार मुख्यमंत्री रहे येडि ने कहा कि वह 2023 के चुनावों में भाजपा को कम से कम 140 सीटों पर जीत सुनिश्चित करने के लिए पूरी कोशिश करेंगे। उन्होंने इस बात से इनकार किया कि पिछले साल जुलाई में मुख्यमंत्री पद से हटने के बाद पार्टी ने उनकी उपेक्षा की। उन्होंने कहा कि पार्टी ने उन्हें सारे मौके दिए हैं। कभी भी, किसी भी हाल में उन्हें प्रताडि़त नहीं किया गया। पार्टी के कारण ही वे चार बार मुख्यमंत्री बने। उन्होंने दावा किया अगले साल पार्टी फिर से सत्ता में आएगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

जाने-माने लेखक सलमान रुश्दी पर न्यूयॉर्क में जानलेवा हमला, चाकुओं से गोदकर किया घायलमनीष सिसोदिया का BJP पर निशाना, कहा - 'रेवड़ी बोलकर मजाक उड़ाने वाले चला रहे दोस्तवादी मॉडल'सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद बोले तेजस्वी यादव- 'नीतीश जी का हमसे हाथ मिलाना BJP के मुंह पर तमाचे की तरह''स्मोक वार्निंग' के कारण मालदीव जा रही 'गो फर्स्ट' की फ्लाइट की हुई कोयंबटूर में इमरजेंसी लैंडिंगHimachal Pradesh News: रामपुर के रनपु गांव में लैंडस्लाइड से एक महिला की मौत, 4 घायलMaharashtra Politics: चंद्रशेखर बावनकुले बने महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष, आशीष शेलार को मिली मुंबई की कमानममता बनर्जी को बड़ा झटका, TMC के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पवन वर्मा ने पार्टी से दिया इस्तीफामाकपा विधायक ने दिया विवादित बयान, जम्मू-कश्मीर को बताया 'भारत अधिकृत जम्मू-कश्मीर'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.