scriptKarnataka politics: Shivakumar hugged Sidhu in presence of Rahul Gandh | कर्नाटक की राजनीति: राहुल गांधी के इशारे पर सिद्धू से गले मिले शिवकुमार मगर... | Patrika News

कर्नाटक की राजनीति: राहुल गांधी के इशारे पर सिद्धू से गले मिले शिवकुमार मगर...

- मुख्यमंत्री पद को लेकर मचे घमासान पर लगेगा ब्रेक!
- राहुल ने कहा, भाजपा को हराने के लिए कांग्रेस एकजुट

बैंगलोर

Published: August 06, 2022 02:07:59 am

बेंगलूरु. कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी प्रदेश इकाई में मुख्यमंत्री पद को लेकर मचे घमासान को फिलहाल शांत कराने में सफल नजर आए। दावणगेरे में 'सिद्धरामोत्सवÓ के मंच पर पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डीके शिवकुमार जब एक-दूसरे के गले मिले तो राहुल गांधी मुस्करा दिए।
siddarama_amruta_mahotsava_11.jpg
सिद्धू से गले मिले शिवकुमार, मुस्कराने लगे राहुल

एक दिन पहले ही हुब्बल्ली में राजनीतिक मामलों पर गठित समिति (पीएसी) की पहली बैठक के बाद जब सिद्धू ने अपनी जन्मदिन पर केक काटा तो पहली 'बाईटÓ (निवाला) शिवकुमार को खिलाया। इसके बाद सिद्धरामोत्सव के मंच पर शिवकुमार ने सिद्धू को अंग वस्त्र ओढ़ाकर बधाई दी और सिद्धू से गले मिले। दोनों नेताओं ने हाथ मिलाया और जनसभा में एकजुटता प्रदर्शित की।

बाद में राहुल गांधी ने अपने संबोधन में कहा 'आज मुझे मंच पर सिद्धरामय्या और शिवकुमार को गले मिलते देखकर बहुत खुशी हुई। शिवकुमार ने संगठन के लिए बहुत काम किया है। कांग्रेस पार्टी भाजपा और संघ को हराने के लिए पूरी तरह से एकजुट है।Ó उन्होंने कहा कि कांग्रेस जब सत्ता में आएगी तो निष्पक्ष और ईमानदार सरकार देगी, जो राज्य के भविष्य को बेहतर करने के लिए काम करेगी।
siddarama_amruta_mahotsava_14.jpgमतभेद दूर करने की कवायद
सूत्रों का कहना है कि दोनों शीर्ष नेता राहुल गांधी के ईशारे पर एक-दूसरे के गले मिले। दरअसल, सिद्धरामोत्सव को लेकर कांग्रेस के दोनों शीर्ष नेताओं के बीच मतभेद गहरा गए थे। सिद्धरामय्या समर्थक विधायक जमीर अहमद खान के बयानों के कारण उन्हें पार्टी ने नोटिस देकर चेताया भी था। दोनों नेताओं के बीच बढ़ते मतभेद से आगामी विधानसभा चुनावों में पार्टी की संभावनाओं पर असर पड़ सकता है। लेकिन, राहुल गांधी के हस्तक्षेप से फिलहाल मामला शांत नजर आ रहा है।
siddarama_amruta_mahotsava_12.jpg
चुनाव तक नेतृत्व पर कोई बात नहीं
इससे पहले मंगलवार रात हुब्बल्ली में एक महीने पहले गठित प्रदेश कांग्रेस राजनीतिक मामलों की समिति की पहली बैठक राहुल की मौजूदगी में हुई। इस दौरान नेतृत्व से जुड़े मसले पर भी चर्चा हुई। सूत्रों के मुताबिक राहुल ने नेताओं को आपसी मतभेदों को भुलाकार एकजुटता से अगला विधानसभा चुनाव लडऩे की सलाह दी। बाद में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) के.सी. वेणुगोपाल ने कहा कि प्रदेश में नेतृत्व को कोई मसला नहीं है। पार्टी पहले ही सामूहिक नेतृत्व में चुनाव लडऩे की बात कह चुकी है। बैठक में नेतृत्व और पार्टी के आंतरिक मुद्दों पर सार्वजनिक बयान नहीं देने के निर्देश दिए गए। विधानसभा चुनाव तक नेतृत्व पर कोई चर्चा नहीं होगी। मुख्यमंत्री का पद फिलहाल मसला नहीं है। इसके बारे में पार्टी आलाकमान समय आने पर विधायकों की राय से निर्णय लेगा। उन्होंने कहा कि बैठक में भाजपा के कुशासन के खिलाफ एकजुट होकर लडऩे का सर्वसम्मति से संकल्प लिया गया। बैठक में राहुल ने सुझाव दिया कि भाजपा के कुशासन और भ्रष्टाचार को उजागर करने के लिए और अधिक आक्रामक अभियान चलाया जाना चाहिए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

मुंबई पुलिस की बड़ी कार्रवाई, गुजरात के भरूच में पकड़ी ‘नशे’ की फैक्ट्री, 1026 करोड़ के ड्रग्स के साथ 7 गिरफ्तारभूस्खलन से हिमाचल में 100 से अधिक सड़कें ठप, चार दिन भारी बारिश का अलर्टबिहारः मंत्रियों में विभागों का बंटवारा, गृह मंत्रालय नीतीश के पास, तेजस्वी के पास 4 विभाग, तेज प्रताप का घटा कद, देखें ListVideo मध्यप्रदेश में बाढ़ के हालात, सात जिलों में राहत-बचाव का काम शुरू, लोगों को घरों से निकालाममता बनर्जी के ट्विटर प्रोफाइल में गायब जवाहर लाल नेहरू की तस्वीर, बरसी कांग्रेसMaharashtra: खाने को लेकर कैटरिंग मैनेजर पर भड़के शिवसेना MLA संतोष बांगर, कर्मचारी को जड़ दिए थप्पड़कश्मीरी पंडित की हत्या मामले में सामने आई मनोज सिन्हा, महबूबा मुफ्ती व उमर अब्दुल्ला की प्रतिक्रिया, जानिए क्या कहाअब राजस्थान के अलवर जिले में बवाल, भारी पुलिस बल तैनात, बाजार पूरी तरह से बंद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.