यूनाइटेड किंगडम से आने वाली सभी उड़ानें रद्द

- 537 में ये 138 यात्री पहुंचे बिना निगेटिव रिपोर्ट के

- पहचान प्रक्रिया जारी

By: Nikhil Kumar

Published: 24 Dec 2020, 09:40 AM IST

बेंगलूरु. यूनाइटेड किंगडम (यूके) में सामने आए कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन ने कोविड-19 को लेकर चिंता बढ़ा दी है। कई देशों सहित भारत ने भी यूके से आने वाली फ्लाइटों पर प्रतिबंध लगाया है। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने यूके से भारत के लिए उड़ान भरने वाली सभी फ्लाइटों को 31 दिसंबर रात 12 बजे तक के लिए रद्द कर दिया है। वहीं भारत से यूके जाने वाली सभी फ्लाइट्स भी 31 दिसंबर तक के लिए रद्द हैं। यह फैसला मंगलवार की रात से लागू होगा।

स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. के. सुधाकर ने सोमवार को कहा कि केंद्र के दिशा-निर्देशों के अनुसार कर्नाटक में भी संबंधित सभी उड़ानें रद्द रहेंगी। इंडियन एयरलाइन्स से रविवार को 246 यात्री बेंगलूरु पहुंचे। इनमें से 89 के पास कोविड निगेटिव प्रमाण पत्र नहीं था। ब्रिटिश एयरवेज से रविवार को ही बेंगलूरु पहुंचे 291 में से 49 यात्री बिना कोविड निगेटिव प्रमाण पत्र के थे। इन सभी यात्रियों की मंगलवार तक पहचान कर ली जाएगी। जिसके बाद सभी का आरटी-पीसीआर जांच करेंगे। उन्होंने कहा कि यूके, डेनमार्क और नीदरलैंड से आने वाले सभी यात्री एक सप्ताह तक होम क्वारंटाइन रहेंगे। गत 14 दिनों के दौरान इन तीन देशों से कर्नाटक पहुंचे अन्य यात्रियों की पहचान प्रक्रिया जारी है। सभी के लिए आरटी-पीसीआर जांच अनिवार्य है।

डॉ. सुधाकर ने कहा कि शुरुआती रिपोर्ट के अनुसार कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन पहले के वायरस के मुकाबले तेजी से फैल रहा है। घबराने नहीं सावधानी बरतने की जरूरत है। लोगों से अपील है कि वे समाजिक दूरी, हैंड सैनिटाइजेशन और मास्क संबंधित सभी नियमों का सख्ती से पालन करे।

उन्होंने बताया कि नए स्ट्रेन पर प्रदेश स्वास्थ्य विभाग की भी नजर है। राष्ट्रीय मानसिक आरोग्य व स्नायु विज्ञान संस्थान (निम्हांस) इसके विश्लेषण में मददगार साबित होगा।

जांच के लिए कियोस्क खोल जाएंगे

हवाई अड्डों पर अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की जांच के लिए कियोस्क खोले जाएंगे। क्रिसमस और नव वर्ष के जश्न के दौरान कोविड नियंत्रण सरकारी दिशा-निर्देशों की अनदेखी करने वाले होटल, रेजॉर्ट और पब मालिकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

लॉकडाउन की कोई आवश्यकता नहीं

स्कूलों को फिर से खोलने और लॉकडाउन की संभावनाओं से जुड़े एक सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा कि अब लॉकडाउन की कोई आवश्यकता नहीं है। स्कूलों को फिर से खोलने के बारे में सरकार अगले दो से तीन दिनों में फिर से तकनीकी सलाहकार समिति से परामर्श करेगी।

Show More
Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned