रेमडेसिविर की 84 हजार खुराक खरीदेगी सरकार : स्वास्थ्य मंत्री

  • कोविड मरीजों के लिए सरकारी अस्पतालों व रेफर किए गए निजी अस्पतालों में उपचार नि:शुल्क है। मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए 48 श्रद्धांजलि एम्बुलेंस समर्पित हैं।

By: Nikhil Kumar

Published: 17 Apr 2021, 09:52 AM IST

बेंगलूरु. स्वास्थ्य व चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. के. सुधाकर ने कहा कि सरकार रेमडेसिविर इंजेक्शन की 84 हजार खुराक (karnataka to procure 84000 units of Remdesivir) खरीदेगी। इसके लिए निविदा मंगाई गई है। मेडिकल ऑक्सीजन की कमी नहीं हो इसके लिए पहले ही संयंत्र स्थापित किए गए हैं। हर जिले में संयंत्र लगाने की निविदाएं मंगाई गई हैं।

उन्होंने कहा कि दूसरी लहर में संक्रमित 95 फीसदी मरीजों में शून्य या हल्के लक्षण हैं। पांच फीसदी मरीजों को ही अस्पतालों में भर्ती करने की जरूरत पड़ रही है। गंभीर लक्षणों वाले लोग ही उपचार के लिए अस्पतालों का रुख करें। निजी अस्पतालों को निर्देश दिए गए हैं कि वे कोविड के गंभीर मरीजों को ही अस्पताल में भर्ती करें।

24 घंटे के भीतर मिले रिपोर्ट

डॉ. सुधाकर ने कहा कि कोविड लैबों को 24 घंटे में रिपोर्ट जारी करने के निर्देश दिए गए हैं। सभी निजी अस्पताल 50 फीसदी बिस्तर सरकार द्वारा रेफर कोविड मरीजों के लिए आरक्षित करेंगे। नोडल अधिकारी हर अस्पताल पर निगरानी रखेंगे। सुनिश्चित करेंगे कि हर मरीज को उपचार उपलब्ध हो। बीबीएमपी के हर वार्ड में एक एम्बुलेंस तैनात है। क्वारंटाइन करने से पहले संबंधित व्यक्ति के हाथों पर मुहर लगाई जाएगी।

48 श्रद्धांजलि एम्बुलेंस समर्पित

कोविड मरीजों के लिए सरकारी अस्पतालों व रेफर किए गए निजी अस्पतालों में उपचार नि:शुल्क है। मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए 48 श्रद्धांजलि एम्बुलेंस समर्पित हैं।

कुछ अहम तथ्य

- सरकारी अस्पतालों व मेडिकल कॉलेजों में 1000 बिस्तर और निजी मेडिकल कॉलेजों में 5000 बिस्तर आरक्षित किए गए हैं।

- अकेले बेंगलूरु में 400 एम्बुलेंस कोविड मरीजों के लिए उपलब्ध हैं।

- कंटेनमेंट व माइक्रो कंटेनमेंट जोन के लिए जारी दिशा-निर्देशों को सख्ती से लागू किया जाएगा।

- सितारा होटलों को भी अस्थाई अस्पताल में तब्दील करने पर विचार

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned