scriptKarnataka to soon have it's first leopard safari | जल्द साकार होगा तेंदुआ सफारी का सपना | Patrika News

जल्द साकार होगा तेंदुआ सफारी का सपना

- कर्नाटक : कई चुनौतियों के बीच धीरे-धीरे आगे बढ़ी परियोजना

बैंगलोर

Published: January 13, 2022 10:04:14 pm

बेंगलूरु. शहर के बन्नेरघट्टा जैविक उद्यान (बीबीपी) के तेंदुआ सफारी का सपना जल्द साकार होने वाला है। यहां शेर, भालू और बाघ सफारी पहले से ही है। बीबीपी में 39 तेंदुए हैं। इनमें से ज्यादातर तेंदुओं को जंगल से बचाया गया था। बचाए गए तेंदुए पुनर्वास लिए बीपीपी में ही रखे जाते हैं।

leopard.jpg

तेंदुए की विशेषता अलग
वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि तेंदुआ सफारी पहले के शेर और बाघ सफारी से अलग है। तेंदुए की विशेषता अलग होती है। दरअसल तेंदुओं की खासियत है कि वे कई फीट ऊंचाई तक छलांग लगा सकते हैं। साथ ही वे आसानी से बाड़बंदी के लिए लगाई जाने वाली लोहे की जाली पर भी चढ़ सकते हैं। इसलिए बीबीपी को इस परियोजना को अंतिम रूप देने में कई प्रकार की चुनौतियों का सामाना करना पड़ा। तेंदुआ सफारी कई एकड़ में फैला होगा। इतने बड़े क्षेत्र में समुचित बाड़बंदी करना चुनौतीपूर्ण कार्य है। अगर तेंदुआ बाड़ फांदकर बाहर आ जाता है तो वह लोगों के लिए जानलेवा साबित हो सकता है। वर्ष 2016 में तेंदुआ सफारी को मंजूरी मिली थी। तब से यह परियोजना लंबित है।

चारदीवारी फांदने में माहिर
वैसे भी पूर्व के अनुभवों पर गौर करें तो तेंदुए कई बार चारदीवारी फांदकर भागने में सफल रहे हैं। फरवरी 2016 में वाइटफील्ड स्थित एक निजी विद्यालय से जब तेंदुए को पकड़ा गया था और उसे पुनर्वास के लिए बीबीपी लाया गया था तब वह उसी रात पार्क से भागने में सफल हो गया था। कई अन्य मौकों पर भी तेंदुए अपने बाड़ से बाहर निकलने में लगभग सफल हो गए थे।

रेडियो-कॉलर लगाने का काम जारी
बीबीपी की कार्यकारी निदेशक वनश्री विपिन सिंह ने बताया कि एक माह में सफारी शुरू करने की योजना है। कोरोना महामारी के कारण देरी भी हो सकती है। बाड़ और दीवारों की उंचाई बढ़ाई गई है। तेंदुओं को रेडियो-कॉलर करने के लिए भी काम जारी है। इन्हें ट्रैक करने में आसानी होगी। शुरुआत में प्रयोग के तौर पर दो सप्ताह के लिए आठ तेंदुए के साथ सफारी प्रारंभ होगी। इस दौरान तेंदुए के व्यवहार का अध्ययन किया जाएगा। यह जानना जरूरी है कि लोगों और वाहनों की उपस्थिति को वे कैसे लेते हैं। तेंदुए सफारी वाहनों पर आराम से चढ़ सकते हैं। इसलिए हर स्तर पर ट्रायल जरूरी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

महाराष्ट्रः सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी के 12 विधायकों का निलंबन असंवैधानिक बताते हुए रद्द कियाCorona cases in india: पिछले 24 घंटे में कोरोना के 2.51 लाख केस, 627 की मौत, नए मामलों में 12% की कमीUP Assembly Elections 2022 : अमित शाह की अखिलेश यादव को खुली चुनौती, बोले- अगर हमारे मुकाबले 10 फीसदी भी काम किया तो जवाब देंटाटा की Air India आज से भरेगी उड़ान, इस तरह करेंगे यात्रियों का स्वागतRRB-NTPC: छात्र संगठनों का आज बिहार बंद का ऐलान, महागठबंधन ने भी किया समर्थन, पड़ोसी राज्यों में अलर्टजमाव बिंदू के पास पहुंचा पारा, जमी ओस की बूंदेBudget 2022: इस बार टूटी परंपरा 'हलवा समारोह' की जगह मिठाई बांटीज्योतिरादित्य सिंधिया का जवाब-केपी यादव को लेकर कही ये बात
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.