जानिए कैसे हनी ट्रैप में फंसे कर्नाटक के नेता और रसूखदार

गृहमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि हनी ट्रैप मामले की जांच में पुलिस पर कोई दबाव नहीं

बेंगलूरु. गृहमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि हनी ट्रैप मामले की जांच सही दिशा में जा रही है और पुलिस पर किसी भी तरह का कोई दबाव नहीं पड़ रहा है।

उन्होंने दावणगेरे में मीडिया से कहा कि मामले से संबंधित हनी ट्रैप की विडियो क्लिप को मिटने के लिए पुलिस पर कोई दबाव नहीं डाला जा रहा है। उन्होंने कहा कि दबाव संबंधी कुछ मीडिया में प्रकाशित खबरें पूरी तरह निराधार है।

बोम्मई ने कहा कि पुलिस कानून के अनुसार जांच कर रही है। उन्होंने भी पुलिस को सुझाव दिया है कि किसी के दबाव में आए बगैर मामले की गहराई तक पहुंच कर अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए। उन्होंने कहा कि इस मामले में अभी तक आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें चार युवतियां भी शामिल है। दो युवतियां टीवी धारावाहिक में काम करती है।

हाई प्रोफाइल है मामला
हनी ट्रैप में विधायकों, पूर्व मंत्रियों, उद्योगपतियों और रियल एस्टेट का कारोबार करने वाले लोगो और वरिष्ठ अधिकारियों को भी निशाना बनाने का अंदेशा है। इस मामले का प्रमुख आरोपी राघवेन्द्र है। उसने जिस्म फरोशी चलाने वाले एक दलाल की सहायता से कई युवतियों को किराए पर लिया। वह युवतियों को एक हनी ट्रैप के लिए एक लाख रुपए की कीमत देता था। सभी आरोपियों के बैंक खातों से बड़ी धन राशि जब्त की गई है।

Priyadarshan Sharma
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned