जानिए , बेंगलूरु में बेसकॉम ने क्यों तैयार की 12 हजार कर्मियों की ‘फौज’

बेसकॉम ने कसी कमर , ताकि वर्षा में भी बिजली गुल न हो

By: Ram Naresh Gautam

Published: 17 May 2019, 05:36 PM IST

बेंगलूरु. शहर में बारिश के दौरान पेड़ की टहनियां ट्रांसफार्मर पर गिरने से बिजली आपूर्ति में बाधा, कई जगह पर बिजली के तारों का गिरना, तेज हवा से खंभे झुकने जैसी समस्याओं से निपटने को बेंगलूरु बिजली वितरण कंपनी (बेसकॉम) ने बेंगलूरु शहर, बेंगलूरु ग्रामीण, तुमकूरु, चिकबल्लापुर, कोलार तथा चित्रदुर्ग जिलों की व्याप्ति में 12 हजार से अधिक कर्मचारियों की ‘फौज’ तैयार की है।

बेसकॉम के महाप्रबंधक बी. कृष्णमूर्ति (उपभोक्ता संपर्क विभाग) के मुताबिक उपभोक्ताओं के लिए समस्या संबंधी शिकायतें दर्ज करने के लिए शीघ्र ही दो मोबाइल ‘एप’ जारी किए जा रहे हैं। इसके अलावा बिजली उपभोक्ताओं को याद करने में आसान फोन नंबर आवंटन के लिए बेसकॉम ने भारतीय दूरसंचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) के साथ संपर्क किया है। यह हेल्पलाइन टोल फ्री होगी। ऐसी शिकायतों के दर्ज करने के लिए बेसकॉम के नियंत्रण कक्ष में 40 कर्मचारी 24 घंटे तैनात रहेंगे।

बीबीएमपी के साथ समन्वय के लिए दो नोडल अधिकारी तैनात किए गए हैं। 12 मई तक बेसकॉम की ओर से बेंगलूरु शहर, बेंगलूरु ग्रामीण तथा चित्रदुर्ग जिलों की व्याप्ति में बिजली की तारों के आस-पास की पेड़ों का टहनियां काटने की 20 हजार 457, खंभों की मरम्मत की 1 हजार 752, ट्रांसफार्मर का नविनीकरण के 1 हजार 684 शिकायतों का समाधान किया गया है। ऐसी समस्याओं से निपटने के लिए बेंगलूरु शहर में 8 हजार 606 , बेंगलूरु ग्रामीण जिले के 3,722 चित्रदुर्गा में 384 कर्मचारियों को मिलाकर कुल 12 हजार 612 कर्मचारी तैनात किए गए हैं।

Ram Naresh Gautam Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned