नागवारा वार्ड में कोविड-19 मरीज की मौत, आखिर कैसे हुआ संक्रमित

इलाका कंटेनमेंट जोन घोषित

By: Santosh kumar Pandey

Published: 23 May 2020, 07:56 PM IST

बेंगलूरु. नागवारा वार्ड में शनिवार को एक कोविड-19 (Covid-19) संक्रमित व्यक्ति की मौत हो गई। इस 32 वर्षीय व्यक्ति को तीन दिन पहले कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। सांस लेने में समस्या के कारण युवक को 19 मई को अस्पताल मेंं भर्ती कराया गया था। संक्रमण की पुष्टि होने के बाद ही बीबीएमपी ने इलाके को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया है।

बताया जाता है कि मरीज तीन महीने से बिस्तर पर था। ऐसे में उसे संक्रमण कैसे हुआ, इसकी जांच की जा रही है। वह तपेदिक का मरीज था और शराब पीने का आदी था। उसकी मां बहन के घर से उसके लिए खाना लाया करती थी। उसकी मां, उनकी बहन और बहन का पुत्र भी निगेटिव पाया गया है। ऐसे में यह रहस्य है कि आखिर वह कैसे संक्रमित हुआ।

कोरोना का बढ़ता प्रकोप
बता दें कि राज्य में कोरोना का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। कर्नाटक में शनिवार की शाम को कोरोना ने दोहरा शतक लगया और राज्य में कुल मरीजों की संख्या 1959 पहुंच गई। महाराष्ट्र से लौट रहे लोगों की वजह से शनिवार को कोरोना संक्रमितों की संख्या में भारी उछाल आया। राज्य में रिकॉर्ड 216 मरीज मिले। इनमें से 186 महाराष्ट्र से लौटे हुए लोग हैं जिन्हें मिलाकर राज्य में कुल मरीजों की संख्या 1939 हो गई। बेंगलूरु शहरी जिले में एक युवक की मौत हो गई।

यादगिर जिला नया हॉटस्पॉट
शनिवार शाम स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार यादगिर जिला कोरोना वायरस के नए हॉटस्पॉट के रूप में उभरा है जहां 72 मरीजों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। सभी महाराष्ट्र से लौटे हुए लोग हैं। महाराष्ट्र से लौटने वाले लोगों की वजह से मंड्या में भी जिला प्रशासन की चिंता बढ़ी हुई है। यहां शनिवार शाम तक 28 मरीज मिले हैं।

COVID-19 virus
Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned