सीबीआइ के समक्ष पेश होंगे डीके शिवकुमार

राजनीति से प्रेरित मामला बताया

By: Sanjay Kulkarni

Published: 25 Nov 2020, 08:06 PM IST

बेंगलूरु. आय से अधिक संपत्ति के मामले में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व मंत्री डीके शिवकुमार बुधवार को सीबीआइ के समक्ष पेश होंगे। कलबुर्गी में पत्रकारों से बात करते हुए डीके शिवकुमार ने कहा कि उन्होंने जांच में पूर्ण सहयोग की बात कही है। वे 25 नवंबर को सीबीआइ के सामने पेश होंगे।डीके शिवकुमार के खिलाफ भ्रष्टाचार मामले की जांच कर रही सीबीआइ ने पिछले 5 अक्टूबर को उनके आवास पर छापेमारी की थी। उसी सिलसिले में पूछताछ के लिए उन्हें तलब किया गया है।

शिवकुमार ने सीबीआइ की कार्रवाई को राजनीति से प्रेरित बताते हुए कहा कि 'राज्य में प्रतिशोध की राजनीति बढ़ गई है। मुझे उस दिन सीबीआइ ने समन दिया जिस दिन मेरी बेटी की सगाई थी। नोटिस केवल मुझे दिया गया। राज्य और केंद्र की सरकार केवल मेरे खिलाफ बदले की राजनीति क्यों कर रही है।

जांच एजेंसी ने सदाशिवनगर स्थित उनके घर की भी तलाशी ली थी। सीबीआइ की ओर से जारी बयान में कहा गया था कि पूर्व मंत्री के खिलाफ अपने और अपने परिवार के नाम पर लगभग 74.93 करोड़ की आय से अधिक संपत्ति रखने के आरोप में केस दर्ज किया गया था। बिजली खरीदी में धांधलियों की न्यायिक जांच की मांग

बेंगलूरु. आम आदमी पार्टी ने राज्य में बिजली खरीदी की आड़ में 3 हजार 400 करोड़ रुपए का भ्रष्टाचार होने का आरोप लगाते हुए इस मामले की न्यायिक जांच कराने की मांग रखी है।पार्टी के राज्य संचालक पृथ्वी रेड्डी ने कहा कि अदानी की कंपनी से ऊंचे दरों पर बिजली खरीदकर भ्रष्टाचार किया गया है।

बिजली की दरों में की गई वृद्धि के खिलाफ जनाक्रोश के बावजूद सरकार अभी तक मौन है।राज्य में पिछले 10 वर्ष से खरीदी गई बिजली की न्यायिक जांच होनी चाहिए। राज्य में पर्याप्त मात्रा में बिजली उपलब्ध होने के बावजूद निजी कंपनियों को लाभ पहुंचाने के लिए बिजली खरीद कर जनता का पैसा लूटा जा रहा है।

Sanjay Kulkarni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned