क्षत्रियों को एकजुट होने की जरूरत

समारोह का आयोजन

मैसूरु. 479वीं महाराणा प्रताप जयंती की स्मृति में शनिवार रात को समारोह का आयोजन किया गया। महंत चेतनगिरी व देवेश ब्रह्मचारी के सान्निध्य में महाराणा प्रताप की तस्वीर पर पुष्पहार पहनाकर कर दीप प्रज्वलित किया गया। अखिल कर्नाटक क्षत्रिय महासभा के अध्यक्ष उदय सिंह ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आज क्षत्रियों को एकजुट होने की जरूरत है। महंत चेतनगिरी ने क्षत्रियों को सनातन धर्म की रीढ़ बताते हुए कहा कि मैं नम आंखों से व विनम्र भाव से महाराणा प्रताप को याद करता हूं। आपकी देशभक्ति व गोभक्ति के कारण आज भारत में ही नहीं अपितु विदेशों में भी आपकी देशभक्ति का यशोगान गाया जाता है। उन्होंने कहा कि भारत में तीन वंश हैं। सूर्यवंश, चंद्रवंश व अग्नि वंश। पाबूजी राठौड़ ने गायों की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहूति दे दी। इस अवसर पर महाराणा प्रताप सिंह क्षत्रिय समाज के अध्यक्ष सत्यनारायण सिंह, उपाध्यक्ष अनिता सिंह, अखिल कर्नाटक क्षत्रिय महासभा के अध्यक्ष उदय सिंह, राजपूत समाज होसूर के अध्यक्ष भवानी सिंह, प्रियापटना नगर पालिका के सदस्य मंजुनाथ सिंह, बेंगलूरु के प्रेम सिंह, कोयम्बटूर के अध्यक्ष युवराज सिंह, महाराणा प्रताप राजपूत मंडल मैसूरु के अध्यक्ष पृथ्वी सिंह चांदावत, सदस्य कुदन सिंह मेव, राजस्थान राजपूत समाज के अध्यक्ष जब्बर सिंह दहिया मौजूद रहे।

Yogesh Sharma
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned