लापता प्रतापगढ़ नगर परिषद सभापति यशवंतपुर स्टेशन पर मिले

Ram Naresh Gautam

Publish: May, 22 2018 04:44:07 PM (IST)

Bengaluru, Karnataka, India
लापता प्रतापगढ़ नगर परिषद सभापति यशवंतपुर स्टेशन पर मिले

प्रवासी राजस्थानी व्यवसायी मानधाना और ट्रेवल एजेंट बालाजी की मदद से अहमदाबाद भेजा

बेंगलूरु. पिछले चार दिन से लापता प्रतापगढ़ (राजस्थान) के नगर परिषद सभापति कमलेश डोसी सोमवार सुबह पांचवें दिन बेंगलूरु के यशवंतपुर स्टेशन पर बदहवास हालत में मिले। उनकी हालत देख कनार्टक राज्य पर्यटन विकास निगम (केएसटीडीसी) के एजेंट बालाजी और प्रवासी राजस्थानी मार्बल व्यवसायी प्रदीप मानधाना मदद के लिए आगे आए और उन्हें विमान से अहमदाबाद भेजा गया, जहां राजस्थान के जनप्रतिनिधि व परिवारजन के साथ वे प्रतापगढ़ रवाना होंगे।

प्रदीप मानधाना ने बताया कि सोमवार सुबह जब केएसटीडीसी के ट्रेवल एजेंट बालाजी को जानकारी मिली तो वे डोसी के पास पहुंचे और बातचीत कर उन्हें सुरक्षित स्थान पर बैठाया। उन्हें होश आने पर मिली जानकारी के अनुरूप मोबाइल से उनका परिचितों से संपर्क करवाया। इसी दौरान राजस्थान के नगरीय निकाय मंत्री श्रीचंद कृपलानी ने यशवंतपुर में रहने वाले मार्बल व्यवसायी चित्तौडगढ़़ के मूल निवासी प्रदीप मानधना से सम्पर्क साधा और तत्काल केएसटीडीसी एजेंट बालाजी से संपर्क करने को कहा।

मानधना मौके पर पहुंचे और डोसी से बातचीत कर घटनाक्रम जानने का प्रयास किया। लेकिन, वे कोई विशेष जानकारी नहीं दे पाए। दोपहर बाद मानधना ने सुरक्षा कर्मी की मदद से डोसी को हवाई जहाज से अहमदाबाद के लिए रवाना किया। अहमदाबाद में चित्तौडगढ़़-प्रतापगढ़ के सांसद सीपी जोशी व नगर निकाय मंत्री श्रीचंद कृपलानी व कईजनप्रतिनिधि उनका इंतजार कर रहे हैं।

सांसद व मंत्री पिछले दो दिनों से महाराष्ट्र के मुख्य मंत्री देवेंद्र फडणवीस व पुलिस महानिदेशक से सम्पर्क में हैं। डोसी के बेंगलूरु में मिलने व सुरक्षा कर्मी के साथ अहमदाबाद के लिए रवाना होने की सूचना पर सांसद सीपी जोशी, नगरीय निकाय मंत्री श्रीचंद कृपलानी व भाजपा के कई पदाधिकारी अहमदाबाद पहुंचे। वहां से परिवारजनों के साथ डोसी प्रतापगढ़ रवाना होंगे।

परिजनों से मिली जानकारी के अनुसार सभापति कमलेश डोसी प्रतापगढ़ से 16 मई को जयपुर रवाना हुए थे। उसी दिन शाम को वे विमान से मुम्बई चले गए। मुम्बई में 17 मई को एक होटल में ठहरे। रात पौने आठ बजे होटल छोड़ा। फिर मुम्बई के कुर्ला रेलवे स्टेशन पर रात 11 बजे तक सीसीटीवी फुटेज में वे नजर आए। इसके बाद मोबाइल पर भी कोई सम्पर्क नहीं हो पाया।

इस संबंध में 18 मई की रात प्रतापगढ़ थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। वहीं मुम्बई में भी रिपोर्ट दर्ज कराई गई। इसके बाद प्रतापगढ़ और मुम्बई पुलिस जांच में जुटी रही। सोमवार सुबह डोसी बेंगलूरु के यशवंपुर रेलवे स्टेशन के पास बदहवास हालत में मिले। वे यह नहीं बता पा रहे हैं कि बेंगलूरु कैसे पहुंचे। सांसद सीपी जोशी ने बताया कि दोषी के पास कुछ भी सामान नहीं है। उनके गले में पहनी स्वर्ण चेन, सोने का कड़ा, नकदी, बैग और कुछ प्रमुख दस्तावेज गायब बताए जा रहे हैं। वे मुम्बई से बेंगलूरु कैसे पहुंचे, यह रहस्य बना हुआ है। बताया गया कि वे मुम्बई से बुरहानपुर में साध्वीजी के दर्शन करने निकले थे।


एक ही रट मुझे घर भिजवा दो
चित्तौडगढ़़ निवासी मार्बल व्यवसायी प्रदीप मानधना ने बताया कि कमलेश डोसी की हालत फिलहाल ठीक है। वे घर भिजवा देने की रट लगाए हुए हैं। उनकी हालत से प्रतीत होता है कि घटनाक्रम से वे काफी टूट चुके हैं। उन्होंने बताया कि केएसटीडीसी के एजेंट बालाजी ने दोषी की मदद में कोई कसर नहीं छोड़ी।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned