अवैध खनन के खिलाफ धरना देने पर विधायक गिरफ्तार, रिहा

कहा, गांवों के लोगों के स्वास्थ पर प्रतिकूल प्रभाव

By: Santosh kumar Pandey

Updated: 30 Aug 2020, 03:40 PM IST

बेंगलूरु. बागलगुन्टे पुलिस ने अवैध खनन की रोकथाम की मांग को लेकर धरना देने वाले दासरहल्ली के विधायक मंजुनाथ को गिरफ्तार किया और बाद में रिहा कर दिया।

मंजुनाथ ने पत्रकारों को बताया कि शहर के चारों तरफ अवैध रूप से पत्थर खनन चल रहा है। इसकी रोकथाम में सरकार विफल रही है। इसे रोकने की मांग कर वे कई बार मुख्यमंत्री बी.एस.येडियूरप्पा को पत्र लिखे लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। इससे स्पष्ट है कि अवैध खनन में सरकार और अन्य मंत्री भी लिप्त है।

उन्होंने कहा कि हेसरघट्टा रोड पर मल्लासन्द्र के पास चल रहे अवैध खनन से आस पास के गांवों के लोगों के स्वास्थ पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। खनन से निकलने वाली धूल फसलों पर गिरने से फसलें तबाह होने लगी हैं। हेसरघट्टा जंगलों के जानवर भी गांवों का रुख कर तबाही मचा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ अवैध खनन रोकने की मांग करने पर पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें खनन के खिलाफ आवाज उठाने पर सार्वजनिक टेलीफन बूथ से हत्या की धमकी दी गई है लेकिन वे किसी से नहीं डरेंगे। वे इसे बंद करवा कर ही दम लेंगे। उन्हें क्षेत्र के लोगों का समर्थन प्राप्त है। वे मल्लसंद्र क्षेत्र में गए तो वहां पहले से ही पुलिस तैनात थी और उन्हें नागरिकों की समस्याओं तक नहीं सुनने दी गई।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned