बेंगलूरु के ग्रामीण इलाके में तेंदुए का आतंक, वृध्द महिला को बनाया शिकार

कुछ दिन पहले ली थी बच्चे की जान

By: Santosh kumar Pandey

Published: 16 May 2020, 02:46 PM IST

बेंगलूरु. ग्रामीण इलाके में दस दिनों में तेंदुए के हमले की दूसरी घटना सामने आई है जिसकी वजह से इलाके में लोग भयभीत हैं।

तावरकेरे थाना क्षेत्र के अंतर्गत कोट्टगनहल्ली गांव में शनिवार को एक 68 वर्षीय महिला का क्षत-विक्षत शव पाया गया है। वन और पुलिस विभाग के सूत्रों के अनुसार तेंदुए ने वृध्द महिला पर उस वक्त हमला किया जब वह दैनिक कार्य से घर से बाहर निकली थी।

कोट्टगनहल्ली निवासी गंगम्मा का शव उसके घर से कुछ दूरी पर बरामद किया गया। वन विभाग का अनुमान है कि गंगम्मा एक वयस्क तेंदुए के हमले का शिकार हुई है।

पुलिस ने शव को नेलमंगला के सरकारी अस्पताल में भेज दिया है और तेंदुए को पकडऩे के लिए एक ऑपरेशन शुरू किया गया है।

गांव वालों ने बताया कि मोटागानहल्ली ग्राम पंचायत में कोट्टागानहल्ली के आसपास के गांवों में तेंदुआ आने की घटनाएं बढ़ रही हैं। जिसकी वजह से ग्रामीणों को रात को घर से बाहर निकलने में डर लगता है।

दस दिनों में तेंदुए के हमले की दूसरी घटना
बता दें कि बेंगलूरु के पास पिछले 10 दिनों में यह तेंदुए के हमले की दूसरी ऐसी घटना है। 9 मई को बेंगलूरु के बाहरी इलाके कदरायनपाल्या के पास एक तीन साल के बच्चे हेमंत को तेंदुए ने मार डाला था।

वन अधिकारियों का कहना है कि जिस तेंदुए ने लडक़े को मारा था उसे पकड़ लिया गया था और उसे बाद में वन क्षेत्र में छोड़ दिया गया। वन विभाग को शक है कि वही तेंदुआ वापस आ गया है और उसने महिला पर हमला कर दिया।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned