किसानों को ऋण माफी छलावा: कुमार

जनता दल (ध) के प्रदेश अध्यक्ष एचडी कुमारस्वामी ने राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस सरकार द्वारा किसानों का 50 हजार रुपए तक का सहकारी ऋण माफ करने के कदम को

By: शंकर शर्मा

Published: 10 Nov 2017, 10:16 PM IST

बेंगलूरु. जनता दल (ध) के प्रदेश अध्यक्ष एचडी कुमारस्वामी ने राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस सरकार द्वारा किसानों का 50 हजार रुपए तक का सहकारी ऋण माफ करने के कदम को एक छलावा करार दिया है।


कुमारस्वामी ने गुरुवार को शिवमोग्गा जिले के बुल्लापुर ग्राम में रात्रि विश्राम के बाद कहा कि ऋण माफ करने के लिए पर्याप्त कोष के बिना सिद्धरामय्या ने सस्ती लोकप्रियता बटोरने के लिए ऋण माफी योजना की घोषणा कर दी। वे इस बजट वर्ष में इसके लिए धन ही उपलब्ध नहीं करवा पा रहे।

उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में सत्ता में आने वाली अगली सरकार पर ऋण माफी का बोझ लादने के मकसद से सिद्धरामय्या ऋण माफी के लिए धन आवंटित नहीं कर रहे। एक सवाल के जवाब में कुमारस्वामी ने कहा कि अगले साल होने जा रहे विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी किंग मेकर नहीं बनेगी बल्कि अपने खुद के बलबूते पर बहुमत हासिल कर किंग बनेगी। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी प्रदेश के सभी जिलों में अपना खाता खोलेगी और उत्तर कर्नाटक में पार्टी के 50 से अधिक उम्मीदवार चुनाव जीतेंगे।


उन्होंने किसानों को भरोसा दिलाया कि यदि उनकी पार्टी सत्ता में आई तो 24 घंटे निर्बाध बिजली आपूर्ति होगी। किसानों को उनकी उपज का वास्तविक मूल्य दिलाने के अलावा उनके सभी ऋण माफ किए जाएंगे। भद्रावती स्थित वीआईएसएल तथा एपीएम कारखानों का पुनश्चेतन किया जाएगा।


एक सवाल के जवाब में कुमारस्वामी ने कहा कि अगले विधानसभा चुनाव में उनके भतीजे प्रज्वल रेवण्णा को चुनाव का टिकट नहीं दिया जाएगा और उनके परिवार से केवल दो लोग ही चुनाव लड़ेंगे। दो दिन पहले एचडी रेवण्णा की पत्नी भवानी ने अपने पुत्र प्रज्जवल को विधानसभा चुनाव में खड़ा करने की बात कही थी, जिससे विवाद खड़ा हो गया था लेकिन अब कुमारस्वामी ने यह बयान देकर प्रज्वल के इरादों पर पानी फेर दिया है। कुमारस्वामी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के नेता सरकारी धन लूट कर चुनाव लडऩे की तैयारी कर रहे हैं।

फसल बीमा योजना में अनियमितताओं का आरोप
किसान खेत मजदूर कांग्रेस ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में अनियमितताओं का आरोप लगाते हुए इसकी सीबीआई जांच कराने की मांग की है। कांग्रेस नेताओं ने गुरुवार को सीबीआई में इसकी शिकायत दर्ज कराई।


किसान खेत मजदूर कांग्रेस के अध्यक्ष सचिन मीगा ने बताया कि इस योजना से किसानों की बजाय बीमा कंपनियों को लाभ हुआ है। बीमा कंपनियों ने १५,८९१ करोड़ रुपए की प्रीमियम राशि प्राप्त की जिससे उन्हें १० हजार करोड़ से भी अधिक लाभ हुआ है। उन्होंने कहा कि नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक ने अपनी रिपोर्ट में इसका खुलासा किया है। विज्ञान एवं कृषि प्रौद्योगिकी केन्द्र के प्रमुख ने भी इसे माना है।

उन्होंने आरोप लगाया कि किसानों को मुआवजा देने की योजना में हुए भ्रष्टाचार के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिम्मेदार हैं। इसलिए मोदी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जांच करने की मांग की गई है। फसलों को नुकसान होने पर किसानों को कोई मुआवजा नहीं दिया गया। केंद्र सरकार इसमें शामिल भ्रष्ट लोगों को बचा रही हैं।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned