Lockdown Effect : शराब नहीं मिलने पर 6 लोगों ने की खुदकुशी

उडुपी जिला प्रशासन के सामन आई अब एक नई मुसीबत

By: Sanjay Kumar Kareer

Published: 31 Mar 2020, 11:44 PM IST

बेंगलूरु. लॉकडाउन के दौरान शराब की दुकानें बंद होने से शराब पीने के आदी लोगों के लिए अब शराब की तलब जानलेवा साबित हो रही है। कथित तौर पर शराब नहीं मिलने से उडुपी जिले में अब तक छह लोगों ने आत्महत्या की है।

इस नई समस्या ने जिला प्रशासन की नींद उड़ा दी है। पिछले एक सप्ताह में छह लोगों ने आत्महत्या की है, जिन्हें कथित रूप से शराब नहीं मिलने के कारण किया गया कृत्य बताया जा रहा है। कारकल तहसील के तेल्लूरु गांव के नागेश आचार्य (३७), पडूकापू के शशिधर शर्मा (४६), कुन्दापुर तहसील के हम्माडी निवासी राघवेन्द्र (३७),
कारकल तहसील वरंगा गांव के अरविन्द (३७), बेल्लमपल्ली कुक्कीकट्टे के वाल्टर डिसूजा (५७) और उदायावार के गणेश (४२) ने आत्महत्या की। बताया गया है कि ये सभी शराब के लिए लगातार कोशिश कर रहे थे। लेकिन कोई भी रास्‍ता नहीं सूझने पर तंग आकर उन्‍होंने यह कदम उठाया।

जिलाधिकारी जी.जगदीश ने पत्रकारों को बताया कि शराब नहीं मिलने के कारण छह लोगों ने आत्महत्या की है। जिला प्रशासन के लिए यह बहुत बड़ी समस्या बन गई है। इस तरह के लोगों से परामर्श करने के लिए चिकित्सकों का दल गठित किया गया है। जो लोग परामर्श करना चाहते हैं वे टोल फ्री नंबर १०७७ कर काल कर सकते हैं।

Sanjay Kumar Kareer Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned