नहीं थमी कोरोना की रफ्तार तो फिर से लॉकडाउन !

-स्वास्थ्य श्रीरामुलू ने दिए संकेत

राज्य में कोविड केयर केन्द्र स्थापित करने के कदम उठाए जा रहे हैं। विक्टोरिया व राजीव गांधी चेस्ट अस्पताल में व्याप्त समस्याओं के बारे में उनको जानकारी मिली है। रोगियों ने भोजन व पानी की सुविधाएं नहीं होने की शिकायतें की हैं। इस संबंध में तत्काल संबंधित अधिकारियों के साथ चर्चा करके समस्या को हल किया जाएगा।

By: Surendra Rajpurohit

Published: 24 Jun 2020, 09:03 PM IST

बेंगलूरु. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए बेंगलूरु में भी चेन्नई की तरह एक बार फिर लॉकडाउन लागू करने पर सरकार विचार कर सकती है। स्वास्थ्य मंत्री बी. श्रीरामुलू ने मंगलवार को इसका संकेत दिया।

हालांकि, राजस्व मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार के निर्देश पर ही फिर से लॉकडाउन लगया जाएगा। उधर, मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा ने लोगों की चिंताओं को दूर करने की कोशिश करते हुए कहा कि भयभीत होने की जरुरत नहीं है।

अभी कोई फैसला नहीं

श्रीरामुलू ने शहर के मल्लेश्वरम स्थित के.सी. जनरल अस्पताल के हालात का निरीक्षण करने के बाद कहा कि राज्य में कोविड-19 के संक्रमण के बढऩे की रफतार इसी तरह जारी रहती है तो दुबारा लाकडाउन लगाना अनिवार्य हो जाएगा। इस सले पर कोरोना टास्क फोर्स के सदस्यों, विशेषज्ञों तथा मुख्यमंत्री से विचार कर निर्णय किया जाएगा। राजधानी बेंगलूरु सहित राज्य के अधिक संक्रमण वाले इलाकों में पहले ही सीलडाउन लागू किया गया है।

राज्य में कोविड केयर केन्द्र स्थापित करने के कदम उठाए जा रहे हैं। विक्टोरिया व राजीव गांधी चेस्ट अस्पताल में व्याप्त समस्याओं के बारे में उनको जानकारी मिली है। रोगियों ने भोजन व पानी की सुविधाएं नहीं होने की शिकायतें की हैं। इस संबंध में तत्काल संबंधित अधिकारियों के साथ चर्चा करके समस्या को हल किया जाएगा।

केंद्र के दिशा-निर्देश पर निर्भर :अशोक

उधर, अशोक ने फिर से लॉकडाउन करने के बारे में चल रही चर्चाओं के बीच राजस्व मंत्री आर. अशोक ने कहा कि केन्द्र सरकार के दिशा निर्देशों के बिना ऐसा नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि विधानसभा क्षेत्रवार या वार्ड वार सीलडाउन लागू करने के बारे में विशेषज्ञों की रिपोर्ट के आधार पर निर्णय किया जाएगा लेकिन फिलहाल लॉकडाउन का कोई प्रस्ताव नहीं है।

उन्होंने विपक्ष पर प्रहार करते हुए कहा कि जब लॉकडाउन लागू किया जाता है तो वे इसे हटाने की बातें करते हैं और जब लॉकडाउन में छूट दी गई तो यही नेता दोबारा लॉकडाउन की मांग करने लगते हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इस मसले पर विशेषज्ञों के साथ परामर्श कर रही है। गुरुवार को मंत्रिमंडल की बैठक में भी हालात पर विस्तार से चर्चा की जाएगी।

सरकार क्षेत्रवार लॉकडाउन की संभावना पर भी विचार कर रही है। कोविड-19 की रोकथाम के लिए सरकार पर तुगलकी फैसले लेने के आरोपों को बेबुनियाद ठहराते हुए अशोक ने कहा कि कोविड-19 की रोकथाम के लिए राज्य सरकार केन्द्र सरकार के दिशा निर्देशों का पालन कर रही है और केन्द्र सरकार स्थिति पर प्रति क्षण नजर रख रही है।

Surendra Rajpurohit Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned