लालबाग में 20 दिन तक चलेगा आम-कटहल मेला

लालबाग में 20 दिन तक चलेगा आम-कटहल मेला

Shankar Sharma | Publish: May, 18 2018 04:41:46 AM (IST) Bangalore, Karnataka, India

लालबाग में 25 मई से आम तथा कटहल मेला चलेगा।

बेंगलूरु. लालबाग में 25 मई से आम तथा कटहल मेला चलेगा। 20 दिन तक चलने वाले इस मेले में आम तथा कटहल उत्पादक किसान सुबह 8 बजे से शाम 7 बजे तक आम तथा कटहल बेचेंगे। मेले में विभिन्न किस्म के 1 हजार मीट्रिक टन आम बेचने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। मेले में उपभोक्ताओं से प्राकृतिक रूप से परिपक्व आम तथा कटहल रियायती दरों पर उपलब्ध होंगे।


बागवानी विभाग के सूत्रों के मुताबिक राज्य में इस वर्ष गत वर्ष की तुलना में आम के उत्पादन में गिरावट हुई है। अबकि बार राज्य में 5 से 7 लाख टन आम का उत्पादन हुआ है। उत्पादन कम होने के कारण आम के खरीद मूल्यों में उछाल दर्ज हो रहा है।


अधिक संख्या में आवेदन प्राप्त होने पर स्टॉल्स की संख्या बढ़ाई जाएगी। 20 दिवसीय इस मेले में 50 से 75 लाख रुपए का कारोबार अपेक्षित है। वर्ष 2017 में यहां पर संपन्न आम मेले में 2000 मीट्रिक टन आम बेचने के साथ 1 करोड़ 50 लाख का कारोबार हुआ था। मेले में कटहल के 20 स्टॉल्स लगाएं जाएंगे।

उपलब्ध होंगे यह आम
उपभोक्ताओं को मेले में रसपुरी, अल्फोंसो, सक्करेगुत्ती, बेनिशा, मल्लिका, बेंगनपल्ली, दशहरी, केसर, तोतापरी समेत 12 किस्म के आम उपलब्ध होंगे। मेले में कोलार, चिक्कबल्लापुर, रामनगर, मंड्या, चित्रदुर्गा, बेंगलूरु ग्रामीण तथा तुमकूरु जिले के आम उत्पादक किसान भाग लेंगे। मेले में आम के 40-50 स्टॉल्स लगेंगे। स्टॉल्स आवंटन के लिए आम उत्पादक किसानों से आवेदन आमंत्रित किए गए है।

शुभ कार्यों में प्रवृत्त करें जीवन को
बेंगलूरु. शांतिनाथ दिगंबर मंदिर विल्सन गार्डन में आयोजित धर्मसभा में आचार्य कुमुदनंदी ने कहा कि शुभ कार्यों में प्रवृत्ति और अशुभ कार्यों में निवृत्ति मनुष्य का चारित्र है। शुभ कार्य में छह आवश्यक कर्तव्य हैं-देवपूजा, गुरुपास्ति, स्वाध्याय, संयम, तप और दान। जब तक श्रावक शुभ कार्यों में लगा रहेगा तब तक नए कर्म बंधेंगे नहीं और अशुभ कार्यों की निवृत्ति होगी। उन्होंने कहा कि काय, वचन को सही दिशा में संभाल कर रखने से शुभ व पुण्य का आश्रव होता है, कर्मों की निर्जरा होती है।

Ad Block is Banned