मंत्रोच्चार से गूंजा आइमाता वडेर

-आज होगी शिवलिंग की स्थापना

By: Yogesh Sharma

Published: 01 Mar 2020, 05:39 PM IST

बेंगलूरु. ऊं तत्स स्वाहा के मंत्रोच्चारों के बीच आहूतियां देते जोड़े, मंत्रोच्चार करती पंडितों की टीम, मंगलगान करती महिलाएं, देवी की भक्ति लीन श्रद्धालु, कुछ ऐसा ही नजारा था रविवार को अत्तिबेले स्थित आइमाता मंदिर का। मौका था, सीरवी समाज ट्रस्ट अत्तिबेले की ओर से सीरवी समाज की आराध्य देवी आइमाता के शिखरबद्ध मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा एवं सीरवी समाज भवन की पहली वर्षगांठ का। वर्षगांठ का शुभारंभ रविवार सुबह शुभ मुहूत्र्त में पंडित रवि महाराज के नेतृत्व में विधिकारकों ने गणपति, नवग्रह एवं लक्ष्मी हवन से किया। शाम को माताजी का विशेष हवन किया गया। मंत्रोच्चारों के बीच अध्यक्ष मूलाराम काग, सचिव मांगीलाल राठौड़ सहित अन्य पदाधिकारियों एवं कार्यकारिणी सदस्यों ने भी हवन कुण्ड में आहूतियां दी। रात्रि में भजन संध्या का शुभारंभ गणपति वंदना से हुआ। राजस्थान से आए गायक महेन्द्र बोयल एंड पार्टी ने भजनों की प्रस्तुतियां दीं। गायकों द्वारा अखण्ड ज्योत जगाई माता... जय बोलों आइमाता री, आइमाता भगत बुलावे वेगा आवों..., बिलाड़ा देवी ऊंचों थारों देवरो..., इत्यादि भजनों पर श्रद्धालु देर रात तक झूमते रहे। शिवलिंग की स्थापना के चढ़ावे भी बोले गए। इस अवसर पर उपाध्यक्ष ओमप्रकाश राठौड़, सचिव मांगीलाल राठौड़, कोषाध्यक्ष वेनाराम काग, सह सचिव किशोर चोयल सह कोषाध्यक्ष बाबुलाल सातपुरा सहित अनेक गणमान्य मौजूद रहे।

शिवलिंग स्थापना व ध्वजारोहण आज
आइमाता मंदिर में सोमवार को आइपंथ के धर्मगुरु दीवान माधवसिंह के सान्निध्य में विविध कार्यक्रम होंगे। सुबह 9 बजे धर्मगुरु का बधावा का कार्यक्रम होगा। इसके बाद हवन पूर्णाहुति एवं शिवलिंग की स्थापना की जाएगी। लाभार्थी परिवार शिवलिंग स्थापना का विधान करेंगे। प्रथम वर्षगांठ के उपलक्ष्य में मंदिर के शिखर पर ध्वजारोहण होगा। लाभार्थी मांगीलाल राठौड़ व ओमप्रकाश राठौड़ परिवार ध्वजारोहण करेंगे।

Yogesh Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned