अर्थ और काम पुरुषार्थ आत्मा के विकार रूप

अर्थ और काम पुरुषार्थ आत्मा के विकार रूप

Shankar Sharma | Updated: 04 Jun 2019, 11:09:29 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

आचार्य महेन्द्र सागर सूरि ने कहा कि भारत देश पुरुषार्थ को मानता है पर उसका पुरुषार्थ धर्म प्रधान है। अर्थ और काम पुरुषार्थ आत्मा के विकार रूप हैं, जबकि धर्म और मोक्ष आत्मा का स्वाभाविक पुरुषार्थ है।

हुब्बल्ली. आचार्य महेन्द्र सागर सूरि ने कहा कि भारत देश पुरुषार्थ को मानता है पर उसका पुरुषार्थ धर्म प्रधान है। अर्थ और काम पुरुषार्थ आत्मा के विकार रूप हैं, जबकि धर्म और मोक्ष आत्मा का स्वाभाविक पुरुषार्थ है। वहीं, धर्म और मोक्ष आत्मा का स्वाभाविक पुरुषार्थ है। उन्होंने कहा कि मनुष्य का साध्य मोक्ष है। उसकी सिद्धि धर्म से होती है। सिद्धि न हो, वहां तक अर्थ काम पुरुषार्थ की जरूरत भी रहती है, वो मिले भी तो जितना धर्म पुरुषार्थ अच्छा करेंगे उतना ही अच्छा फल मिलेगा।


आचार्य ने कहा कि आज के समय में मां-बाप संतानों की शिकायतें करते रहते हैं और कहते हैं कि ये हमारी मानते नहीं हैं, जो हमें पसन्द है उसके विपरीत ही चलते हैं। ऐसी फरियाद करने वाले मां-बाप से कहना चाहता हूं कि आप लडक़े से कह दें कि वह जब तक धर्म समझकर हमारी बात नहीं मानेंगे तब तक वे उसे पीठ पर बैठाएंगे और उसी की कमाई खाएंगे और इसी तरह लडक़ी से भी कह दें कि वह धर्म समझकर ही हमारी बातों का अनुशरण करेगी, नहीं तो उसे किसी दूसरे परिवार को बिगाडऩे के लिए बहू बनाकर नहीं भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि भारतवर्ष की धर्म प्रधान पवित्र आर्य संस्कृति इसीलिए संपूर्ण जगत को विश्वशांति एवं प्रेरणा का उपदेश देती है।

योग दिवस पर सवा लाख लोगों के सामूहिक योग की तैयारी
मैसूरु. अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर २१ जून को सामूहिक योग प्रदर्शन में इस बार 1 लाख 25 हजार लोगों को शामिल करने की योजना बनाई गई है। गत वर्ष राजस्थान के कोटा शहर में एक लाख लोगों ने सामूहिक योग कर कीर्तिमान स्थापित किया था। इस कीर्तिमान को तोडऩे का लक्ष्य रखा गया है। इस कार्यक्रम की रूपरेखा तय करने के लिए उच्च शिक्षा मंत्री जीटी देवगौड़ा 4 जून को जिले के अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे।

मैसूरु के रेस क्लब मैदान में कार्यक्रम होगा। योग शिक्षकों के लिए प्रशिक्षिण शिविर का आयोजन किया जा रहा है। योग फाउंडेशन के अध्यक्ष श्रीहरि के अनुसार मैसूरु में वर्ष 2017 में योग दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम में 55,506 लोगों ने भाग लिया था। योग दिवस की तैयारी के लिए शहर के विभिन्न क्षेत्रों में लोगों को योगासन का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned