सरकार बनते ही गरीबों को न्यूनतम आमदनी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक हिंदुस्तान-एक सपना का वादा करते हुए कहा कि उनके हिंदुस्तान में नीरव मोदी, विजय माल्या, मेहुल चौकसी जैसे चंद बड़े उद्योगपतियों को नहीं बल्कि गरीबों को प्राथमिकता मिलेगी।

By: शंकर शर्मा

Published: 10 Mar 2019, 11:09 PM IST

हावेरी. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक हिंदुस्तान-एक सपना का वादा करते हुए कहा कि उनके हिंदुस्तान में नीरव मोदी, विजय माल्या, मेहुल चौकसी जैसे चंद बड़े उद्योगपतियों को नहीं बल्कि गरीबों को प्राथमिकता मिलेगी। अगर कांग्रेस की सरकार बनी तो सबसे पहले गरीबों को न्यूनतम आमदनी का तोहफा देंगे। राज्य में लोकसभा चुनाव अभियान का शंखनाद करते हुए उन्होंने संसद एवं विधानमंडल में महिलाओं के लिए आरक्षण को प्राथमिकता बताया।

हावेरी जिले में शनिवार को जनसभा में राहुल ने कहा कि कर्नाटक में दो विचारधाराओं के बीच लड़ाई है। एक तरफ भाजपा और संघ की विचारधारा है जो अमीरों और उद्योगपतियों के साथ है, दूसरी ओर कांग्रेस है जो किसानों और आम जनता के साथ है। भाजपा चोरों की मदद कर रही है और हम गरीबों की मदद करेंगे।


उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने 11 हजार करोड़ रुपए का कर्ज माफ किया है। लेकिन, नरेंद्र मोदी सरकार ने चंद उद्योगपतियों का कर्ज माफ किया। नोटबंदी और रफाल का मुद्दा उठाते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी खुद को देश का चौकीदार बनाने की बात करते थे और जब चौकीदार बने तो 30 हजार करोड़ रुपए की चोरी कर अनिल अंबानी को दे दी। अगर मोदी सरकार अंबानी की जेब में पैसा डाल सकती है, तो कांग्रेस की सरकार गरीबों की जेब में पैसा डालेगी।


दावा करते हुए उन्होंने कहा किपिछले 45 साल में देश में सबसे अधिक बेरोजगारी आज है, कांग्रेस पार्टी ऐतिहासिक काम करती है। श्वेत क्रांति, हरित क्रांति संचार क्रांति सब कांग्रेस पार्टी ही करती आई है। इस बार भी ऐतिहासिक क्रांति करेंगे। कांग्रेस की सरकार बनते ही गरीबों को न्यूनतम आमदनी देंगे। हम सीधे व्यक्ति के खाते में पैसा डाल दिया जाएगा।


केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि आदिवासियों को जमीन से बेदखल किया गया है। नरेंद्र मोदी कहते हैं कि लोकसभा और राज्यसभा में बिल नहीं बदल सकते, आप राज्य में बदल लो। मनरेगा को सबसे बड़ी गलती बताते हैं। मनरेगा का मजाक उड़ाते हैं और आपसे आपका मनरेगा का पैसा छीनते हैं।

संसद में बजट सत्र का जिक्र करते हुए कहा कि पीयूष गोयल ने कुछ कहा और भाजपा के सभी सांसदों ने धड़ाधड़ तालियां बजाई। खरगे जी से पूछा ये ऐसा क्या एनाउंस कर दिया? खरगे ने कहा कि सरकार ने किसानों के लिए दिन का साढ़े तीन रुपया दिया है। अनिल अंबानी को 35 हजार करोड़ रुपए दिया और 15 लोगों का करोड़ों का कर्जा माफ करते हैं, लेकिन गरीब-किसान के खाते में साढ़े तीन रुपए देते हैं। उन्होंने कहा कि हम साढ़े तीन रुपए नहीं देंगे। हम हर महीने गरीबों के खाते में न्यूनतम आमदनी की राशि डाल देंगे।


पुलवामा में हुए आतंवादी हमले पर उन्होंने कहा कि इसके लिए जिम्मेदार जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मौलाना मसूद अजहर को भाजपा सरकार ने ही भारत की जेल से निकालकर कंधार पहुंचाया था। राहुल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सबसे कमजोर बताया और कहा कि थोड़ा दबाव डालो तो झुक जाते हैं।

वे बिना एजेंडा चीन की यात्रा करते रहे और चीन के सैनिक डोकलाम में जमे रहे। उन्होंने कांग्रेस एवं जनता दल-एस गठबंधन के मिलकर चुनाव लडऩे की बात कही और साथ ही दोनों दलों के कार्यकर्ताओं को एकजुट होने का आह्वान भी किया।

राहुल का भाषण सारहीन: रविकुमार
बेंगलूरु. हावेरी में शनिवार को कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी का भाषण हमेशा की तरह सारहीन तथा अवास्तविक था। इसमें राहुल गांधी ने वही रट लगाई जिसका भाजपा नेतृत्व की ओर से सटीक जवाब दिया जा चुका है। प्रदेश भाजपा के महासचिव एन. रविकुमार ने यह बात कही।

शनिवार को उन्होंने कहा कि भाषण में राहुल गांधी ने एक तरह की बातें की हैं। 2014 के चुनाव में पूरे देश में कांग्रेस को 44 सीटें देकर देश की जनता ने कांग्रेस को बता दिया है कि देश की आम जनता कांग्रेस के साथ नहीं बल्कि भाजपा के साथ है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने संप्रग (यूपीए) सरकार के कार्यकाल में ही रफाल युद्धक विमान खरीदने के संबंध में सरासर झूठा बयान दिया है। अगर राहुल गांधी में हिम्मत है तो वे संप्रग सरकार की ओर से खरीदी के लिए जारी किए गए आदेश को सार्वजनिक करें।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned