scriptmore than two thousand trees will be axed for Namma Metro project | नम्मा मेट्रो परियोजना के लिए दो हजार से अधिक पेड़ों पर चलेगी कुल्हाड़ी | Patrika News

नम्मा मेट्रो परियोजना के लिए दो हजार से अधिक पेड़ों पर चलेगी कुल्हाड़ी

  • ओआरआर पर नम्मा मेट्रो परियोजना का काम शुरू

बैंगलोर

Published: December 23, 2021 05:25:20 pm

बेंगलूरु. केंद्रीय रेशम बोर्ड से के.आर. पुरम आउटर रिंग रोड (ओआरआर) पर नम्मा मेट्रो परियोजना के लिए 2,000 से अधिक पेड़ों पर कुल्हाड़ी चलाई जाएगी। बेंगलोर मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीएमआरसीएल) ने पहले ही परियोजना के लिए निर्माण शुरू कर दिया है। बीएमआरसीएल को बीबीएमपी और बेंगलूरु शहरी जिले के उप वन संरक्षक के कार्यालयों से 2,037 पेड़ों को हटाने के लिए अनुमति मिली है।
metro.jpg
बीएमआरसीएल ने एलिवेटेड कॉरिडोर, 13 मेट्रो स्टेशन बनाने, सडक़ को चौड़ा करने आदि के लिए 2,115 पेड़ों को हटाने के लिए वृक्ष अधिकारियों (डीसीएफ) से संपर्क किया था। चिन्हित पेड़ केंद्रीय रेशम बोर्ड से के.आर. पुरम के बीच १९.९ किलोमीटर की दूरी में हैं।
डीसीएफ द्वारा जारी तीन आधिकारिक ज्ञापनों के अनुसार 2,115 पेड़ों में से 1,257 को काटा जाएगा और 780 का स्थानान्तरण किया जाएगा। 71 पेड़ों को स्थल पर ही रखा जाएगा और सात पेड़ों के संबंध में हटाने का निर्णय बाद में लिया जाएगा।
पेड़ों का स्थानान्तरण

आदेश में कहा गया है कि बीएमआरसीएल को बागमने टेक पार्क, सीएमपी प्रशिक्षण केंद्र और भोगनहल्ली, थुबरहल्ली और नल्लूरहल्ली के पास स्थित झील क्षेत्रों में पेड़ों को स्थानांतरित करना है। ट्रांसलोकेशन बीबीएमपी के वन प्रभाग और कृषि विज्ञान विश्वविद्यालय (यूएएस) के विशेषज्ञों द्वारा सुझाई गई कार्यप्रणाली की देखरेख में किया जाना है।
आदेश के अनुसार बीएमआरसीएल को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि स्थानांतरित पेड़ों को तीन साल तक बनाए रखा जाए और भविष्य में टेक पार्क के अंदर किसी भी तरह के निर्माण कार्यों के लिए उन्हें नहीं काटा जाए। बीएमआरसीएल को प्रत्येक हटाए गए पेड़ के लिए 10 पौधे लगाकर प्रतिपूरक वनरोपण कार्य भी करना चाहिए। इसमें कहा गया है कि पेड़ों को हटाने के छह महीने के भीतर प्रतिपूरक वनरोपण किया जाना है।
800 से अधिक आपत्तियां

ओआरआर पर पेड़ों को हटाने पर आम जनता से आपत्ति और सुझाव मांगने वाले सार्वजनिक नोटिस को 800 प्रतिक्रियाएं मिली थीं। सबसे ज्यादा ७७६ आपत्तियां सेंट्रल सिल्क बोर्ड से कोडीबीसनहल्ली के बीच चिन्हित पेड़ों को हटाने के लिए नोटिस जारी करने पर मिली थी।
अधिकांश आपत्तियों में महामारी का हवाला देते हुए आपत्तियां दर्ज करने के लिए समय बढ़ाने की मांग की गई थी। पेड़ों की कटाई को प्रतिबंधित करने और प्रतिपूरक वनीकरण उपायों को बढ़ाने से संबंधित आपत्तियां भी थीं। विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार करने के दौरान चिन्हित किए गए पेड़ों की संख्या, पर्यावरणीय प्रभाव आकलन और वृक्ष अधिकारियों को प्रस्तावित पेड़ों की संख्या में विसंगतियों पर भी प्रतिक्रियाएं प्राप्त हुईं।
बीएमआरसीएल के अनुसार रिपोर्ट क्रमश: 2019 और 2020 में तैयार की गई थी।
जबकि पेड़ों की सूची की गणना जुलाई 2021 में की गई थी।
वृक्ष अधिकारियों द्वारा जारी कार्यालय ज्ञापन के जवाब में बीएमआरसीएल के एमडी अंजुम परवेज ने कहा कि विशेषज्ञ समिति की रिपोर्ट के आधार पर पेड़ अधिकारियों द्वारा कार्यालय ज्ञापन (ओएम) जारी किया गया है। इसे कर्नाटक उच्च न्यायालय के समक्ष रखा जाएगा। हम पेड़ों को हटाने और प्रतिपूरक वनरोपण पर उच्च न्यायालय के आदेश का पालन करेंगे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

Uttarakhand Election 2022: रुद्रप्रयाग में अमित शाह ने पूछा, कैसी सरकार चाहिए, विकास या भ्रष्टाचार वाली?शिवराज सरकार के मंत्री ने राष्ट्रपिता को बताया फर्जी पिता, तीन पूर्व पीएम पर भी साधा निशानापूर्व CM अशोक चव्हाण ने किया खुलासा: BJP सांसद मुरली मनोहर जोशी ने रिपोर्ट में खुद कहा 'PM मोदी सेना के साथ खिलवाड़ कर रहे'NeoCov: नियोकोव वायरस के लक्षण, ठीक होने की दर, जानिए सबकुछPandit Jasraj Cultural Foundation: संगीत के क्षेत्र में भी होना चाहिए तकनीक और आईटी का रिवॉल्यूशन: PM Modiकोविड के एक्टिस केस को लेकर लगातार दूसरे दिन आई यह खुशखबरीUP Assembly Elections 2022 : अखिलेश ने बंद की थी वृद्ध, दिव्यांग, विधवा पेंशन व अनुसूचित जाति के छात्रों की स्कॉलरशिप: सीएम योगीडायबिटीज के पेशेंट हैं तो इन मसालों को करें डाइट में शामिल,रहेंगे स्वस्थ
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.