दो सौ संविदा शिक्षकों को हटाएगी पालिका

दो सौ संविदा शिक्षकों को हटाएगी पालिका

Rajendra Shekhar Vyas | Publish: May, 17 2019 09:05:01 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

परीक्षा परिणाम खराब रहने पर नाराजगी
स्थायी शिक्षकों के वेतन में होगी कटौती

बेंगलूरु. बृहद बेंगलूरु महानगर पालिका (बीबीएमपी) ने अपने अधिकार क्षेत्र वाले हाई स्कूल और प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज (पीयूसी) में एसएसएलसी और द्वितीय पीयू परीक्षाओं के परिणाम अपेक्षा अनुसार नहीं आने पर दो सौ से अधिक ठेके (संविदा) पर कार्यरत शिक्षकों को हटाने का फैसला किया है। पालिका के हाई स्कूल में हर साल एसएसएलसी के परिणाम में गिरावट आ रही है। कई बार ठेके पर कार्यरत शिक्षकों को नोटिस जारी करने के बावजूद कोई लाभ नहीं हुआ। इन प्रयासों के तहत संविदा शिक्षकों को हटाने के अलावा स्थायी शिक्षकों के वेतन में कटौती का भी फैसला लिया गया है। बीते शैक्षणिक सत्र में पालिका के 156 हाई स्कूल और पीयूसी को लिए एक निजी संस्था के माध्यम से ठेके पर 560 शिक्षकों की सेवा ली गई। साथ ही 205 स्थायी रूप से शिक्षक कार्यरत हैं। जिन विषयों में 50 फीसदी से कम परिणाम आए हैं, उन विषयों को पढ़ाने वाले संविदा शिक्षकों के स्थान पर नए शिक्षकों की नियुक्ति की जाएगी। ऐसे शिक्षकों की सूची तैयार कर ली गई है।
वहीं, स्थायी रूप से कार्यरत शिक्षकों का तबादला करने पर भी विचार किया जा रहा है। ठेके पर कार्यरत शिक्षकों से ज्यादा जिम्मेदारी स्थायी शिक्षकों की होती है। इसलिए तबादला करने के अलावा उनके वेतन में कटौती की जाएगी। ठेके पर शिक्षकों की व्यवस्था करने वाली संस्था के साथ भी महानगर पालिका ने चर्चा की है। संस्था को युवा और हुनरमंद शिक्षकों की सेवा उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए गए हैं।
विज्ञान, गणित में पीछे
पालिका के स्कूलों में अधिक छात्र विज्ञान और गणित विषय में अनुत्तीर्ण हुए हैं। इसलिए दोनों विषयों में अधिक अनुभव और छात्रों को आसान तरीक से पढ़ाने वाले शिक्षकों को नियुक्त करने का फैसला लिया गया है। पूर्व क्षेत्र के स्कूलों के शिक्षकों को बदला जा रहा है। पालिका में सत्तारूढ़ दल के नेता अब्दुल वाजिद ने कहा कि पालिका की स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता बनाए रखने के उद्देश्य से कुछ जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। ठेके पर कार्यरत शिक्षकों को हटा कर नए शिक्षकों को नियुक्त किया जाएगा।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned