मैसूरु विवि देगा चार एकड़ भूमि

स्थाई भवन नहीं होने के कारण विद्यार्थियों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। सभी लंबे समय से स्थाई कैंपस की मांग कर रहे थे।

By: Nikhil Kumar

Published: 07 Sep 2020, 06:57 PM IST

- यूओएम सिंडिकेट ने अपनी मंजूरी दे दी है

मैसूरु.

मैसूरु विश्वविद्यालय (यूओएम) अपने मानस गंगोत्री कैंपस में शास्त्रीय कन्नड़ उध्ययन उत्कृष्टता केंद्र (सीइएससीके) की स्थापना के लिए चार एकड़ भूमि देगा। यूओएम सिंडिकेट ने अपनी मंजूरी दे दी है। फिलहाल भारतीय भाषा केंद्रीय संस्थान में सीइएससीके (Centre of Excellence for Studies in Classical Kannada ) का संचालन हो रहा है।

यूओएम (University Of Mysuru) के कुलपति प्रो. जी. हेमंतकुमार ने बताया कि प्रदेश सरकार के दिशा-निर्देशों के बाद सिंडिकेट की बैठक हुई। सभी सदस्यों ने स्नातकोत्तर छात्रावास के पीछे चार एकड़ भूमि को स्वीकृति दी है।

स्थाई भवन नहीं होने के कारण विद्यार्थियों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। सभी लंबे समय से स्थाई कैंपस की मांग कर रहे थे।

पर्यटन, कन्नड़ और संस्कृति मंत्री सी. टी. रवि ने बेंगलूरु में आयोजित एक बैठक में मैसूरु विवि प्रबंधन को चामुंडी पहाड़ी की तलहटी में दूसरे कैंपस की स्थापना के लिए 10 एकड़ भूमि देने के निर्देश दिए थे।

Show More
Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned