बड़ौदा को हरा कर्नाटक रणजी क्वार्टरफाइनल में

करुण नायर की कप्तानी पारी

बेंगलूरु.
कप्तान करुण नायर की कप्तानी पारी (नाबाद 71 रन, 126 गेंद, 7 चौके) और केवी सिद्धार्थ ( 29 नाबाद) के साथ तीसरे विकेट की साझेदारी में बनाए गए नाबाद 92 रन की बदौलत कर्नाटक ने बड़ौदा को 8 विकेट से हराकर रणजी ट्रॉफी के क्वार्टरफाइनल में प्रवेश कर लिया। यहां एम.चिन्नास्वामी स्टेडियम में मैच के तीसरे दिन जीत के लिए 149 रन का लक्ष्य कर्नाटक ने दो विकेट खोकर आसानी से हासिल कर लिया।
इससे पहले 5 विकेट पर 208 रन से आगे खेलते हुए बड़ौदा की पूरी टीम अपने दूसरी पारी में 296 रन बनाकर आउट हो गई। बड़ौदा की ओर से अभिमन्यु सिंह राजपूत (52) और पार्थ कोहली ने छठे विकेट के लिए 52 रन जोड़ा। हालांकि, चोटिल बाबा सूफी पठान और विराज भोसले के बैटिंग की संभावना कम जताई जा रही थी लेकिन दोनों ही खिलाड़ी उतरे। दूसरी पारी में प्रसिद्ध कृष्णा ने 45 रन देकर 4 विकेट चटकाए वहीं रोनित मोरे को 3 विकेट मिले। हालांकि, बड़ौदा ने कर्नाटक के समक्ष जीत के लिए 149 रन का लक्ष्य रखा था लेकिन, बल्लेबाजों के प्रदर्शन में निरंतरता की कमी को देखते हुए यह आसान नहीं था। कर्नाटक की शुरुआत भी खराब रही और सलामी बल्लेबाज देवदत्ता पड्डिकल महज 6 रन के निजी स्कोर पर तब आउट हो गए जब टीम का स्कोर मात्र 14 रन था। पड्डिकल के आउट होने के तुरंत बाद भोजनावकाश हुआ और उस समय कर्नाटक की टीम काफी दबाव में नजर आ रही थी।
भोजनावकाश के बाद कर्नाटक के कप्तान करुण नायर अपने परंपरागत नंबर चार की बजाय 3 नंबर पर बल्लेबाजी के लिए आए। हालांकि, इस रणजी सत्र में अभी तक नायर का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा लेकिन उन्होंने पूरी प्रतिबद्धता और धैर्य दिखाते हुए पहले आर. समर्थ के साथ 44 रन और फिर केवी सिद्धार्थ के साथ नाबाद 92 रन की साझेदारी कर टीम को लक्ष्य तक पहुंचा दिया। बड़ौदा के गेंदबाजों ने काफी चतुराई के साथ गेंदबाजी की तो नकारात्मक लाइन पर भी गेंद डाले। नायर ने पहली पारी में भी 47 रन बनाए थे और उन्हें मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया।

Rajeev Mishra Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned