किशोरावस्था की पाठशाला में पहुंचे नारायण मूर्ति भावविभोर

सरकारी स्कूलों में स्मार्ट कक्षाओं की शुरुआत

By: Sanjay Kulkarni

Published: 10 Jan 2021, 08:13 PM IST

तुमकूरु. इंफोसिस के संस्थापक सदस्य नारायण मूर्ति शनिवार को छह दशक बाद तहसील मुख्यालय मधुगिरी के उस सरकारी माध्यमिक स्कूल पहुंचे, जहां उन्होंने 8 वीं तथा 9 वीं कक्षा में अध्ययन किया था। उन्होंने सरकारी स्कूलों में स्मार्ट कक्षा कार्यक्रम का उद्घाटन किया।

जिले के सरकारी स्कूलों में डिजिटल कक्षाओं का सपना साकार करने के लिए इंफोसिस तथा पावगड़ के श्री राम कृष्ण सेवाश्रम के संयुक्त तत्वावधान में 'दूर तरंग शिक्षाÓकार्यक्रम लागू किया जा रहा है।प्रायोगिक तौर पर मधुगिरी तहसील की 20 सरकारी शालाओं को इस योजना में शामिल किया गया है। इसमें वह स्कूल भी शामिल है जहां नारायणमूर्ति ने माध्यमिक शिक्षा प्राप्त की थी।

उनके पिता एन.आर. रामाराव इसी स्कूल के मुख्योपाध्याय थे। डिजिटल कक्षाएं शुरू करते हुए श्री राम कृष्ण आश्रम के जपानंदस्वामी ने कहा कि इस योजना के अंतर्गत विद्यार्थियों को कक्षा में स्थापित बड़े परदे के माध्यम से गुणात्मक शिक्षा प्राप्त होगी।

योजना के पहले चरण में मधुगिरी तहसील के 20 सरकारी शालाओं के 8 वीं से 10 कक्षा के 10 हजार विद्यार्थियों को इस योजना का लाभ मिलेगा।स्मार्ट क्लास के उपकरणों का रखरखाव स्थानीय शिक्षक करेंगे और मरम्मत का दायित्व इंफोसिस निभाएगी। केंद्र तथा राज्य सरकार के सहयोग से शीघ्र ही इस योजना का विस्तार राज्य के सभी जिलों में किया जाएगा।

Sanjay Kulkarni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned