' नरेंद्र मोदी का चंद्रयान-2 की लैंडिंग देखने आना वैज्ञानिकों का दुर्भाग्य बन गया '

Ram Naresh Gautam | Updated: 12 Sep 2019, 10:12:07 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

  • प्रधानमंत्री (Prime Minister) नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) पचा नहीं पाएंगे चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) के बारे में नेता की यह बात...जब उन्होंने इसरो (Isro) केंद्र में कदम रखा, तभी उन्हें लगा कि यह वैज्ञानिकों के लिए दुर्भाग्य बन गया।

बेंगलूरु. पूर्व सीएम एचडी कुमारस्वामी (HD Kumarswamy) ने पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) पर निशाना साधते हुए कहा कि पीएम ऐसा संदेश देने के लिए बेंगलूरु (Bengaluru) आए जैसे कि वह खुद चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) को लैंड करवा रहे थे।

वैज्ञानिकों ने 10-12 साल तक कड़ी मेहनत की, लेकिन वह सिर्फ प्रचार के लिए आए थे। जब उन्होंने इसरो (Isro) केंद्र में कदम रखा, तभी उन्हें लगा कि यह वैज्ञानिकों के लिए दुर्भाग्य बन गया।

गौरतलब है कि चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम (Lander Vikram) से चांद की सतह से 2.1 किमी की ऊंचाई पर संपर्क टूट गया। इसरो ने कहा कि लैंडर विक्रम की हार्ड लैंडिंग (Hard Landing) हुई है।

आर्बिटर (Orbiter) से अब भी बड़े खोज की उम्मीद : किरण कुमार
इस बीच पूर्व इसरो अध्यक्ष एएस किरण कुमार (AS Kiran Kumar) ने कहा कि लैंडर के सक्रिय नहीं होने के बावजूद आर्बिटर के जरिए काफी अध्ययन किए जाएंगे और मिशन का उद्देश्य पूरा होगा।

यहां गुरुवार को आइआइएससी के दीक्षांत समारोह में शामिल हुए किरण कुमार ने कहा कि आर्बिटर में जिस तरह के उपकरण हैं वैसे उपकरण अभी तक चंद्र मिशनों में नहीं भेजे गए।

इसलिए उम्मीद है कि चंद्रयान-1 जैसी कोई बड़ी खोज चंद्रयान-2 के जरिए भी होगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned