23 दिन में 4 रैलियां करेंगे पीएम मोदी

Kumar Jeevendra Jha

Publish: Feb, 15 2018 01:01:33 (IST) | Updated: Feb, 15 2018 01:01:34 (IST)

Bengaluru, Karnataka, India
23 दिन में 4 रैलियां करेंगे पीएम मोदी

18 को दो दिवसीय दौरे पर मैसूरु पहुंचेगे पीएम, महामस्तकाभिषेक में लेने श्रवणबेलगोला भी जाएंगे, मैसूरु-बेंगलूरु दोहरी रेल लाइन का उद्घाटन करेंगे

बेंगलूरु. उत्तर-पूर्व के दो राज्यों में विधानसभा चुनाव प्रचार थमने के साथ ही भाजपा अब राज्य में पूरी शक्ति झोंकने की तैयारी कर चुकी है। अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले दक्षिण के अपने 'प्रवेश द्वार' में फिर से सत्ता हासिल करने के लिए भाजपा पूरी कोशिश कर रही है। चुनाव कार्यक्रम की घोषणा मार्च मध्य के बाद होने की संभावना है लेकिन इससे पहले भाजपा के स्टार प्रचारक व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कम से कम चार रैलियां करेंगे। मोदी विगत 4 फरवरी को बेंगलूरु में पार्टी के परिवर्तन यात्रा के समापन पर रैली को संबोधित कर चुके हैं। उस रैली में मोदी ने राज्य की भाजपा सरकार पर भ्रष्टाचार को लेकर निशाना साधा। मोदी की रैली के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 4 दिन की यात्रा कर दिल्ली लौट चुके हैं और दस दिन बाद फिर से अगले चरण के दौरे पर आएंगे।
प्रदेश भाजपा सूत्रों के मुताबिक मोदी 19 फरवरी को मैसूरु, 27 फरवरी को दावणगेरे, ४ मार्च को विजयपुर और 13 मार्च को रायचूर में सभा को संबोधित करेंगे। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि मोदी की रैलियों के कार्यक्रम को क्षेत्रवार बनाया गया है। विजयपुर की रैली मुंबई-कर्नाटक क्षेत्र के लिए होगी, जहां विधानसभा की 50 सीटें हैं जबकि रायचूर की रैली हैदराबाद-कर्नाटक क्षेत्र में पार्टी के लिए महत्वपूर्ण होगी, जहां विधानसभा की 31 सीटें हैं। दावणगेेरे में रैली का आयोजन प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बी एस येड्डियूरप्पा के जन्मदिन पर होगा और इससे पार्टी को उत्तर कर्नाटक के इलाके में फायदा मिलने की उम्मीद है। पार्टी के एक नेता ने कहा कि जिन इलाकों में मोदी की रैली आयोजित करने का फैसला किया गया है, वे लिंगायत बहुल हैं व वहां भाजपा की जमीन मजबूत है। इस समुदाय में पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बी एस येड्डियूरप्पा की अच्छी पकड़ मानी जाती है लेकिन पिछले कुछ समय से कांग्रेस व सिद्धरामय्या सरकार ने लिंगायत समुदाय को अलग धर्म का दर्जा देने की दशकों पुरानी मांग को हवा देकर भाजपा की मुश्किल बढ़ा दी है।
तटवर्ती इलाकों का दौरा करेंगे शाह
पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह २० फरवरी से राज्य के तीन दिवसीय दौरे पर आएंगे। शाह इस दौरान तटवर्ती इलाकों का दौरा करेंगे। यह इलाका कभी भाजपा का मजबूत गढ़ माना जाता था लेकिन पिछले विधानसभा चुनाव में यहां कांग्रेस ने अधिकांश सीटें जीती थी। शाह 21-22 फरवरी को उडुपी, दक्षिण कन्नड़ व उत्तर कन्नड़ जिलों का दौरा करेंगे। २० फरवरी को कुक्के सुब्रमण्यस्वामी मंदिर के दर्शन के पश्चात शाह पुत्तुर में स्थित विवेकानंद कॉलेज के विद्यार्थियों के साथ संवाद करेंगे। उसके पश्चात बंटवाल में आयोजित पार्टी कार्यकर्ताओं के नवशक्ति सम्मेलन में भाग लेंगे। उसी दिन वे उडुपी में आयोजित मछुआरों के सम्मेलन में भाग लेंगे। 21 फरवरी को उडुपी में श्रीकृष्ण मठ के दर्शन के बाद वे मेंगलूरु में आयोजित पार्टी कार्यकर्ताओं की रैली में भाग लेंगे। पहला मौका होगा जब मोदी और शाह एक साथ प्रदेश के दौरे पर होंगे।

1
Ad Block is Banned