आपत्तिजनक पोस्ट के आरोपी नवीन को मिली जमानत

अदालत ने कई शर्तों के साथ दी जमानत

By: Santosh kumar Pandey

Published: 23 Oct 2020, 03:55 PM IST

बेंगलूरु. कर्नाटक उच्च न्यायालय (Karnataka High Court) ने शुक्रवार को पुलकेशी नगर के कांग्रेस विधायक अखण्ड श्रीनिवास मूर्ति के रिश्तेदार पी नवीन को जमानत दे दी। अगस्त में नवीन के कथित अपमानजनक सोशल मीडिया पोस्ट (social media post) के बाद पूर्वी बेंगलूरु के इलाकों में हिंसा भड़क गई थी और डीजे हल्ली (DJ Halli ) पुलिस स्टेशन पर हमला किया गया था।

नवीन 2 लाख रुपये का बॉन्ड प्रस्तुत करने के बाद ही रिहा होगा।

अदालत ने कांग्रेस विधायक के भतीजे को बेंगलूरु नहीं छोडऩे, हर महीने की पहली तारीख को न्यायिक पुलिस स्टेशन में पेश होने, सबूतों के साथ छेड़छाड़ न करने और सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट न करने का भी निर्देश दिया।

डीजे हल्ली के निवासी फिरदौस पाशा द्वारा एक शिकायत के आधार पर नवीन के खिलाफ दर्ज की गई एफआईआर बेंगलूरु पुलिस द्वारा पूर्वी बेंगलूरु के डीजे होली और केजी हल्ली पुलिस स्टेशनों में दर्ज सात एफआईआर में से एक है। 11 अगस्त की रात इलाके में विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस की गोलीबारी में तीन लोगों की मौत हो गई थी।

अभियोजन पक्ष ने किया विरोध

नवीन की जमानत का विरोध करते हुए अभियोजन पक्ष ने तर्क दिया कि सोशल मीडिया पर नवीन की टिप्पणी से हिंसा भड़क गई थी जिसमें दो पुलिस स्टेशनों को आग लगाई गई थी और 57 पुलिस वाहन जल गए थे जबकि कई संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया गया था।
अभियोजन पक्ष का कहना था कि याचिकाकर्ता के खिलाफ सात मामले दर्ज हैं। यदि वह जमानत पर रिहा हो जाता है तो याचिकाकर्ता की खुद की जान को खतरा है।

दलीलें सुनने के दौरान जस्टिस बीए पाटिल ने कहा कि इन आधारों पर जमानत खारिज करने से अभियुक्त के मौलिक अधिकारों पर असर पड़ेगा। सशर्त जमानत देते समय पाटिल ने यह भी कहा कि पोस्ट तुरंत डिलीट कर दी गई थी।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned