कर्नाटक में आज से लागू होंगे कोरोना के नए नियम : डॉ सुधाकर

  • सरकार ने केरल के साथ ही महाराष्ट्र से आने वाले लोगों के लिए निगेटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट (Negative RT-PCR report) अनिवार्य कर दिया है। इसके साथ ही क्वारंटाइन और विदेश से आने वाले यात्रियों के लिए भी नियमों में कुछ बदलाव किए गए हैं।

By: Nikhil Kumar

Published: 22 Feb 2021, 09:38 AM IST

बेंगलूरु. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री डॉ के सुधाकर ने रविवार को कहा कि पड़ोसी केरल और महाराष्ट्र (covid cases increasing in Karala and Maharashtra) में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य में भी सतर्कता बरती जा रही है। शनिवार को जारी नए दिशा-निर्देशों का पालन सोमवार से सख्ती से किया जाएगा। सरकार ने केरल के साथ ही महाराष्ट्र से आने वाले लोगों के लिए निगेटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट (Negative RT-PCR report) अनिवार्य कर दिया है। इसके साथ ही क्वारंटाइन और विदेश से आने वाले यात्रियों के लिए भी नियमों में कुछ बदलाव किए गए हैं।

कलबुर्गी में राजीव गांधी स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय (Rajiv Gandhi University of Health Sciences) के क्षेत्रीय केंद्र के प्रशासनिक भवन का उद्घाटन करने के बाद डॉ. सुधाकर (Dr. K. Sudhakar) ने कहा कि नियमों को सख्ती से लागू किया जाएगा। हालांकि, सरकार की फिर से लॉकडाउन की कोई योजना नहीं है।

दो एम्स की मांग
कल्याण कर्नाटक (Kalyan Karnataka) में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS - एम्स) की स्थापना से जुड़े एक सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा कि उन्होंने केंद्र सरकार से कल्याण और उत्तर कर्नाटक के लिए एक-एक एम्स (All India Institute of Medical Sciences) स्थापित करने की अपील की है। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) से शनिवार को मुलाकात के दौरान भी उन्होंने यह मुद्दा उठाया और दो एम्स के लिए अनुमति देने की अपील की। निर्णय केंद्र सरकार लेगी।
2000 चिकित्सकों की नियुक्ति प्रकिया जारी

डॉ. सुधाकर ने कहा कि एम्स की तर्ज पर राज्य सरकार ने क्षेत्रीय मुख्यालय के पुराने अस्पताल भवन में नेफ्रोलॉजी, यूरोलॉजी, कैंसर और ट्रॉमा केंद्र (Nephrology, Urology, cancer and Trauma Centre) स्थापित करने का निर्णय लिया है। अधिक चिकित्सों को भर्ती कर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों (पीएचसी) पर 2-3 चिकित्सकों की नियुक्ति के लिए सरकार के सामने प्रस्ताव है। करीब 2000 चिकित्सकों की नियुक्ति प्रकिया जारी है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अगले बजट में 100 और पीएचसी की घोषणा कर सकते हैं।

25 देशों ने भारत से मांगी वैक्सीन

कोविड वैक्सीन पर उन्होंने कहा कि स्वास्थ्यकर्मी और फ्रंटलाइन वर्कर्स गलतफहमी के कारण अब भी वैक्सीन लगवाने से हिचक रहे हैं। वैक्सीनेशन दर करीब 60 फीसदी है। वैक्सीन सुरक्षित है। 25 से भी ज्यादा देशों ने भारत से वैक्सीन (25 countries have asked covid vaccine) की मांग की है।

Show More
Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned