नए स्ट्रेन की जांच के लिए केरल के 200 छात्रों के नमूने भेजे गए निम्हांस

  • कासरगोड में प्रतिदिन कोविड के 90-100 नए मामले सामने आ रहे हैं। हर दिन करीब 10 हजार लोग कासरगोड से मंगलूरु पहुंचते हैं।

By: Nikhil Kumar

Updated: 12 Feb 2021, 12:01 PM IST

बेंगलूरु. प्रदेश स्वास्थ्य विभाग ने कोविड पॉजिटिव केरल के करीब 200 विद्यार्थियों के नमूने जांच के लिए राष्ट्रीय मानसिक आरोग्य व स्नायु विज्ञान संस्थान (निम्हांस - The National Institute of Mental Health and Neuro-Sciences) भेजे हैं। निम्हांस अब इन नमूनों में यूनाइटेड किंगडम में मिले कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन की जांच करेगा।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि गत एक माह में हजारों विद्यार्थी केरल से मंगलूरु जिला लौटे हैं। करीब 200 विद्यार्थी आरटी-पीसीआर जांच में कोविड पॉजिटिव निकले। केरल में पहले ही कोरोना का नया स्ट्रेन दस्तक दे चुका है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग किसी तरह का जोखिम नहीं उठाना चाहता है। पॉजिटिव विद्यार्थियों को नए स्ट्रेन (United Kingdom Corona Virus new strain) के लिए जांचना जरूरी है।

एहतियातन, केरल से मंगलूरु (Mengaluru) आने वाले सभी लोगों की सीमा पर ही कोविड जांच की जा रही है। केरल से आने वाले विद्यार्थियों के लिए कोविड की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य है। केरल (Kerala) से बस यात्रा कर दक्षिण कन्नड़ जिला पहुंचने वाले विद्यार्थियों के लिए 15 दिन में एक बार कोविड जांच अनिवार्य है। कासरगोड में प्रतिदिन कोविड के 90-100 नए मामले सामने आ रहे हैं। हर दिन करीब 10 हजार लोग कासरगोड से मंगलूरु पहुंचते हैं।

दक्षिण कन्नड़ (Dakshina Kannada) जिले में 26 पैरामेडिकल कॉलेज हैं। इन कॉलेजों में पढ़ रहे 80 फीसदी से ज्यादा विद्यार्थी केरल से हैं।

उल्लेखनीय है कि हाल ही में मंगलूरु जिले के उल्लाल स्थित एक नर्सिंग कॉलेज (Nursing College) के 49 विद्यार्थी कोविड पॉजिटिव निकले हैं। कॉलेज को 19 फरवरी तक कंटेंमेंट जोन घोषित किया गया है।

Show More
Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned