पहले कही थी सामूहिक नेतृत्व की बात, अब केंद्रीय नेतृत्व का फैसला मंजूर: ईश्वरप्पा

बोम्मई और कटील के नेतृत्व को राज्य के लोगों ने किया स्वीकार

By: Rajeev Mishra

Updated: 07 Sep 2021, 11:20 AM IST

बेंगलूरु.
मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई के नेतृत्व में अगला विधानसभा चुनाव लडऩे की गृहमंत्री अमित शाह की घोषणा पर किसी भी विवाद से इनकार करते हुए ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री के एस ईश्वरप्पा ने कहा कि उन्हें यह मंजूर है।
नई दिल्ली में संवाददाताओं से बात करते हुए ईश्वरप्पा ने कहा 'मैंने यह पहले कहा था कि पार्टी अगला चुनाव सामूहिक नेतृत्व में लड़ेगी। चूंकि, पहले पार्टी बहुमत हासिल करने से चूक गई थी इसलिए उन्होंने सुझाव दिया ता कि अगला विधानसभा चुनाव सामूहिक नेतृत्व में लडऩा चाहिए। सामूहिक नेतृत्व का मतलब बसवराज बोम्मई, पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा, जगदीश शेट्टर और प्रदेश अध्यक्ष नलिन कुमार कटील। किसी एक नेता की जगह सभी मिलकर रणनीति तय करें। अधिकांश पार्टी कार्यकर्ताओं की भी यही राय थी।Ó
उन्होंने कहा कि चूंकि, अमित शाह ने सार्वजनिक रूप से घोषणा की है कि अगले विधानसभा चुनाव में बोम्मई पार्टी का नेतृत्व करेंगे तो उन्हें कोई समस्या नहीं है। वे पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व के फैसले का पालन करेंगे। दरअसल, शाह के हालिया घोषणा ने राज्य के कई नेताओं को चौंका दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा और जगदीश शेट्टर इसके निहितार्थों पर चर्चा करने के लिए मिले भी थे। राज्य में अगला विधानसभा चुनाव 2023 में होगा।
ईश्वरप्पा ने यह भी कहा कि नगर निगम चुनावों ने साबित कर दिया है कि बोम्मई और कटील के नेतृत्व को राज्य के लोगों ने स्वीकार किया है। नगर निगम चुनाव में पार्टी उम्मीदवारों की जीत का श्रेय इन दोनों नेताओं को जाता है।

Rajeev Mishra Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned