अमरीका के भारी आयात शुल्क थोपने का असर नहीं: बीरेंद्र सिंह

अमरीका के भारी आयात शुल्क थोपने का असर नहीं: बीरेंद्र सिंह

Ram Naresh Gautam | Updated: 30 Jun 2018, 06:35:58 PM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

इससे स्पष्ट हैं कि बैंक समाधान प्रक्रिया से संतुष्ट हैं

ट्रंप प्रशासन द्वारा आयात शुल्क लगाने के कारण भारत को भी अमरीका से आयातित 16 उत्पादों पर भारी कर लगाना पड़ा

बेंगलूरु. भारत से आयातित इस्पात और एल्युमिनियम पर अमरीका में भारी आयुक्त शुल्क थोपने से देश में इस्पात उत्पादन पर कोई विशेष प्रभाव नहीं होगा क्योंकि अमरीका को इस्पात का निर्यात केवल 3.3 प्रतिशत ही था। केंद्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह ने शुक्रवार को यहां यह बात कही।

उन्होंने कहा कि ट्रंप प्रशासन द्वारा आयात शुल्क लगाने के कारण भारत को भी अमरीका से आयातित 16 उत्पादों पर भारी कर लगाना पड़ा। उन्होंने कहा कि शुरू में सरकार को उम्मीद थी कि ऐसा करने से ट्रंप प्रशासन इस्पात और एल्युमिनियम पर लगाई गई आयुक्त शुल्क को हटाएगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि सरकार अति उत्पादन को टालने और व्यापार संतुलन बनाए रखने पर काम कर रही है। सिंह ने उम्मीद जताई कि व्यापार बाधा का सामना कर रहे देश मिलकर अमरीका को यह शुल्क हटाने पर मजबूर कर देंगे।

 

इस्पात क्षेत्र का संकट खत्म

बीरेंद्र सिंह ने कहा कि इस्पात क्षेत्र में संकट खत्म हो गया है और बैंकों को अब इस उद्योग से बड़ी एनपीए की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। वर्तमान में पांच स्टील खातों को राष्ट्रीय कंपनी विधि पंचाट (एनसीएलटी) में भेजा गया है।

इनमें से कुछ एनपीए खातों की समाधान प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। उन्होंने कहा, इससे स्पष्ट हैं कि बैंक समाधान प्रक्रिया से संतुष्ट हैं। उन्होंने साथ ही उम्मीद जताई कि बैंक भविष्य में इस तरह की समस्या का सामना नहीं करेंगे क्योंकि यह अध्याय अब समाप्त हो गया है।

--------------

नि:शुल्क मेगा स्वास्थ्य जांच शिविर 8 को
बेंगलूरु. जोधपुर एसोसिएशन की ओर से 8 जुलाई को चामराजपेट स्थित एसआरएन आदर्श कॉलेज परिसर में नि:शुल्क मेगा मेडिकल स्वास्थ्य जांच शिविर सुबह 9 बजे से अपराह्न 3.30 बजे तक होगा। शिविर सह संयोजक प्रशांत सिंघी ने बताया कि स्वास्थ्य परीक्षण के अलावा चुनिंदा बीमारियों का उपचार किया जाएगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned