होम आइसोलेशन की सुविधा नहीं होने पर सीसीसी में भर्ती होंगे ग्रामीण क्षेत्र के मरीज

  • स्थानीय टार्क फोर्स ऐसे मरीजों की जिम्मेदारी लेगी और समय रहते सीसीसी भेजेगी

By: Nikhil Kumar

Published: 20 May 2021, 08:13 PM IST

बेंगलूरु. कोरोना वायरस संक्रमण शहरों से गांवों तक तेजी से फैल रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। कई संक्रमितों के पास होम आइसोलेशन की सुविधा नहीं है। ऐसे लोग कोविड देखभाल केंद्र (सीसीसी) जा सकते हैं।

स्वास्थ्य व चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. के. सुधाकर ने बुधवार को कहा कि स्थानीय टार्क फोर्स ऐसे मरीजों की जिम्मेदारी लेगी और समय रहते सीसीसी भेजेगी। बूथ स्तरीय टास्क फोर्स में स्थानीय प्रतिनिधियों को भी शामिल किया जाएगा। जो स्थानीय स्तर पर सीसीसी को प्रबंधित करेंगे।

उन्होंने कहा कि दूसरी लहर के दौरान आय व आजीविका का नुकसान झेल रहे लोग मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा द्वारा बुधवार को घोषित आर्थिक राहत पैकेज से लाभान्वित होंगे।

बीते एक दिन में राज्य में कोविड के 34,281 नए मामले सामने आए। इसके साथ ही कुल संक्रमितों की संख्या 23,06,655 पहुंच गई है। इनमें से 17,24,438 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। 49,953 मरीजों को बुधवार को छुट्टी मिली। 5,58,890 मरीजों का उपचार जारी है। राज्य में कोविड से कुल 23,306 मरीजों की मौत हुई है। स्वास्थ्य विभाग ने इनमें से 468 मौतों की पुष्टि बुधवार को की। राज्य में बुधवार को रिकवरी दर 74.75 फीसदी और मृत्यु दर एक फीसदी रही। पॉजिटिविटी दर 26.46 फीसदी और केस फेटालिटी दर 1.1.36 फीसदी है।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned