scriptNo instruction to select Hindi speaking student | हिंदीभाषी छात्र चुनने का कोई निर्देश नहीं | Patrika News

हिंदीभाषी छात्र चुनने का कोई निर्देश नहीं

- शिक्षा मंत्री ने स्पष्ट किया

बैंगलोर

Published: June 16, 2022 12:15:44 pm

प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षा मंत्री बी. सी. नागेश नेस्पष्ट किया कि 'आजादी का अमृत महोत्सव' यात्रा कार्यक्रम के लिए हिंदी भाषी छात्रों के चयन के संबंध में न तो राज्य और न ही केंद्र सरकार ने कोई निर्देश जारी किया है। विश्वविद्यालय-पूर्व शिक्षा विभाग (बेंगलुरु दक्षिण) के उप निदेशक द्वारा जारी परिपत्र पर विवाद के बाद मंत्री का स्पष्टीकरण आया है, जिसमें कॉलेजों को यात्रा के लिए उन छात्रों के चयन का निर्देश दिया गया था, जो हिंदी बोल सकते हैं। परिपत्र पर तीखी प्रतिक्रियाएं आईं और इसे हिंदी थोपने का प्रयास बताया गया। नागेश ने कहा कि केंद्र या राज्य सरकार किसी ने यह निर्देश नहीं दिया कि आजादी का अमृत महोत्सव के तहत अन्य राज्यों की यात्रा के कार्यक्रम में भाग लेने के लिए छात्रों को हिंदी या अंग्रेजी का ज्ञान होना अनिवार्य है।

हिंदीभाषी छात्र चुनने का कोई निर्देश नहीं
हिंदीभाषी छात्र चुनने का कोई निर्देश नहीं

50 छात्र जाएंगे

भ्रम पैदा करने के लिए जिम्मेदार अधिकारियों या कर्मचारियों के खिलाफ विभाग अनुशासनात्मक कार्रवाई करेगा। यात्रा कार्यक्रम के तहत एक समूह में कुल 50 छात्रों को उत्तराखंड भेजा जाएगा और इतनी ही संख्या में छात्र उत्तराखंड से कर्नाटक आएंगे।

गैरकानूनी गतिविधियों में लिप्तता पड़ेगी महंगी
कलबुर्गी@पत्रिका. जिले के भीमा तट में पहली बार पुलिस अधीक्षक ईशा पंत ने हिस्ट्री शीटरों की परेड कराने के जरिए अपराधियों को कड़ी चेतावनी दी है। ईशा पंत ने चेतावनी दी कि आगामी दिनों में आपराधिक गतिविधियों में लिप्त होने पर बक्शा नहीं जाएगा। लोगों को डराना, धमकाना, जबरन पैसों की उगाई करना समेत गैर कानूनी गतिविधियों में लिप्तता महंगी पड़ेगी।

अफजलपुर तालुक के सभी पुलिस थाना क्षेत्रों के हिस्ट्री शीटरों को अफजलपुर थाने बुलवाकर परेड़ करवाई। अफजलपुर थाना क्षेत्र के 222 हिस्ट्री शीटर, देवल गाणगापुर थाना क्षेत्र के 110, रेवूर थाना क्षेत्र के 31 हिस्ट्री शीटरों की परेड़ कराई।

पुलिस अधीक्षक ईशा पंत ने कहा कि हिस्ट्री शीटर कहते ही सबकुछ आप लोगों के हाथ में नहीं है। हिस्ट्री शीटरों की हर गतिविधि पर पुलिस नजर रखती है। लोगों से शिकायत मिलने में बेरोकटोक कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी। समाजकंटक कार्य छोड़कर अच्छे नागरिक बनना चाहिए।

उन्होंने कहा कि हत्या, पैसों की अवैध वसूली, आमजन को धमकी देना, रुपयों का लेन-देन, पैसों के लिए जमीन समेत विभिन्न मामलों में लोगों को तकलीफ देना, अवैध रेत कारोबार में जुटना, लोगों के थाने में आकर शिकायत नहीं करने को लेकर डराना-धमकी देने वालों पर पैनी नजर रखी गई है। अवैध रेत कारोबार में संज्ञान लेते हुए मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। अब तो आपराधिक गतिविधियों को छोड़कर बेहतर जीवन गुजारना चाहिए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics Crisis: शिवसेना की कार्यकारिणी बैठक खत्म, जानें कौन-कौन से प्रस्ताव हुए पारितMaharashtra Political Crisis: आदित्य ठाकरे का बागी विधायकों पर निशाना, कहा- नहीं भूलेंगे विश्वासघात, हमारी जीत तय हैMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में सियासी उलटफेर का खेल जारी, बागी विधायकों को डिप्टी स्पीकर ने जारी किया नोटिसBPSC Paper Leak: पेपर लीक मामले में गिरफ्तार हुए JDU नेता शक्ति कुमार, सबसे पहले पेपर स्कैन कर WhatsApp पर था भेजाAmarnath Yatra: अमरनाथ यात्रा से 4 दिन पहले प्रशासन अलर्ट, सुरक्षा व्यवस्था को लेकर उठाया बड़ा कदमMumbai News Live Updates: महाराष्ट्र विधानसभा के डिप्टी स्पीकर नरहरि जिरवाल के खिलाफ नया अविश्वास प्रस्ताव पेशMaharashtra Political Crisis: शिवसेना में बगावत के बाद अब उपद्रव का डर! पोस्टर वॉर के बीच एकनाथ शिंदे के गढ़ ठाणे में धारा 144 लागूAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा है
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.