उत्तर कर्नाटक में बाढ़ : अब तक 42 की मौत, 12 लापता

उत्तर कर्नाटक में बाढ़ : अब तक 42 की मौत, 12 लापता

Santosh Kumar Pandey | Updated: 12 Aug 2019, 06:24:29 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

  • कृष्णा बेसिन में बाढ़ के हालात में मामूली सुधार
  • कावेरी बेसिन में भी जलस्तर में थोड़ी कमी

बेंगलूरु. महाराष्ट्र के बांधों से छोड़े जा रहे पानी की मात्रा में थोड़ी कमी के बाद कर्नाटक में कृष्णा बेसिन में बाढ़ के हालात में मामूली सुधार आया है। कावेरी बेसिन में भी जलस्तर में थोड़ी कमी आई है। राहत व बचाव कार्य चल रहे हैं लेकिन बाढ़ से प्रभावित लोगों का गुस्सा समय पर राहत नहीं मिलने से फूटना शुरू हो गयाहै। राज्य में मरने वालों की संख्या बढक़र 42 तक पहुंच गई है और 12 लोग लापता हैं।

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक राज्य की बड़ी नदियों का जलस्तर खतरे के निशान से नीचे आने पर स्थिति में थोड़ा सुधार हुआ है। सेना के जवान और बचाव दल लापता लोगों की तलाश में दिन-रात जुटे हैं और बाढ़ से घिरे इलाकों में लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है। सूत्रों का कहना है कि राज्य के 8 6 तालुकों के 26 94 गांव बाढ़ की विभीषिका से संघर्ष कर रहे हंै।राहत व बचाव दलों ने अब तक बाढ़ में फंसे 5,8 1,8 97 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है। राज्य में स्थापित 118 1 राहत केंद्रों में 32,6 29 लोगों को शरण दी गई है। कृषि विभाग का कहना है कि 4 लाख 21 हजार 514 हेक्टेयर में खड़ी फसल बाढ़ में डूब गई।

मुख्यमंत्री तटीय कर्नाटक के दौरे पर
मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा ने सोमवार को मेंगलूरु, बेलतंगड़ी, धर्मस्थल, उडुपी तथा मलनाडु क्षेत्र के कुछ हिस्सों का का दौरा किया।उन्होंने बाढ़ प्रभावित की समस्याएं सुनीं और अधिकारियों के साथ बैठक कर लोगों को हर तरह की राहत उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। इन क्षेत्रों में प्रमुख नदियों के खतरे के निशान से ऊपर बहने के कारण अनेक गांव पानी में डूब गए हैं अनेक स्थानों पर रेल व सडक़ संपर्क टूट गया है।

सूत्रों के अनुसार केआर सागर बांध से भारी मात्रा में पानी कावेरी नदी में छोड़े जाने के कारण कावेरी बेसिन के टी.नरसीपुर तथा नंजनगुड़ सहित अनेक गांवों में बाढ़ के हालात गंभीर हो गए हैं। उत्तर कर्नाटक के बेलगावी, बागलकोट तथा यादगीर जिलों में बाढ़ की स्थिति अब भी गंभीर बनी हुई है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned